अवैध हथियार लहराने वाले BJP प्रदेश अध्यक्ष पर FIR, कैलाश ने दी बेतुकी दलीलें

Sunday, April 9, 2017

नई दिल्ली। रामनवमी के अवसर पर आरएसएस व सहयोगी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में पहली बार 125 से ज्यादा रैलियों का आयोजन किया और अवैध हथियार लहराए। पुलिस ने अवैध हथियार लहराने वाले आरएसएस एवं भाजपा के नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज कर लिए। इनमें एक नाम भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का भी है। अब उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। इधर भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इस मामले में बेतुकी दलीलें पेश की हैं। 

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर कार्रवाई करने वालीं ममता बनर्जी क्या आप मुहर्रम में हथियार लेकर जुलूस निकालनेवालों पर कार्रवाई करने की हिम्मत दिखायेंगी। अगर बदले की राजनीति के तहत आर्म्स एक्ट के नाम पर दिलीप घोष की गिरफ्तारी हुई, तो बंगाल के सभी भाजपा कार्यकर्ता अपनी गिरफ्तारी देंगे। 

उन्होंने कहा कि शायद ममताजी को याद नहीं कि हमारी माता के हाथ में तलवार, त्रिशूल, खड़ग, हनुमान जी के हाथ में गदा व भगवान श्रीराम के हाथ में धनुष है। हिंदू संस्कृति में शास्त्र व शस्त्र दोनों का महत्व है। हमारे लिए शास्त्र-शस्त्र दोनों पूजनीय हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा कि दिलीप घोष के खिलाफ कार्रवाई हुई, तो इसका भी राजनीतिक रूप से जवाब दिया जायेगा।

यहां बता दें कि बंगाल पुलिस ने अवैध ह​​थियारों का प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। अब भगवान के नाम पर अवैध हथियार लहराने की इजाजत तो मप्र शासित राज्यों में भी नहीं दी जा सकती। दूसरी प्रमुख बात यह कि जिस तरह की रैलियों का आयोजन पश्चिम बंगाल में किया गया। वैसी रैलियां सारे देश में आयोजित क्यों नहीं की गईं। क्या बंगाल के हिंदू, भारत के दूसरे हिंदुओं से अलग हैं। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं