मप्र उपचुनाव: मंत्री पुत्र और हारे हुए भदौरिया होंगे BJP प्रत्याशी

Sunday, March 12, 2017

भोपाल। मप्र में उपचुनाव घोषित हो गए हैं और इसी के साथ भाजपा के प्रत्याशी भी तय हो गए हैं। औपचारिक घोषणा 15 मार्च को होगी, लेकिन दोनों सीटों पर सीएम शिवराज सिंह का फैसला काफी पहले सामने आ चुका है। उमरिया के बांधवगढ़ में सीएम शिवराज सिंह की मजबूरी के प्रत्याशी का नाम शिवनारायण सिंह है। ये मंत्री ज्ञानसिंह के बेटे हैं, जबकि भिंड की अटेर विधानसभा से पिछला चुनाव हार चुके अरविंद भदौरिया के लिए जोड़तोड़ की जमावट कर ली गई है। ब्राह्मण विरोधी भदौरिया को ब्राह्मण वोट दिलाने का काम भी शुरू हो गया है। 

दोनों की उम्मीदवारी का औपचारिक ऐलान 15 मार्च की शाम को प्रदेश चुनाव समिति की बैठक के बाद कर दिया जाएगा। बैठक में सीएम शिवराज सिंह के अलावा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश संगठन प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे भी मौजूद रहेंगे। 

गौरतलब है कि ज्ञान सिंह शहडोल संसदीय सीट से उपुचनाव इसी शर्त पर लड़ने को तैयार हुए थे कि उनकी जीत के बाद बांधवगढ़ सीट से उनके बेटे शिवनारायण को उम्मीदवार बनाया जाएगा। ज्ञान सिंह लोकसभा सीट जीतने की स्थिति में नहीं थे फिर भी शिवराज सिंह ने उसकी शर्तों को स्वीकार किया। पहले ज्ञान सिंह को लोकसभा सीट दिलवाई। विधायक ना होने के बावजूद मंत्री बनाए रखा और अब मजबूरी का टिकट उनके बेटे को दिया जाएगा। 

इधर भिंड की अटेर विधानसभा सीट पर नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे के निधन के बाद से ही अरविंद भदौरिया के लिए तैयारियां शुरू कर दीं गईं थीं। यह सीट भी शिवराज सिंह चौहान थाली में परोसकर भदौरिया को सौंपेंगे। इसी के चलते शिवराज सिंह ने मुन्ना सिंह भदौरिया को लालबत्ती दी है। चुनाव से पहले मंत्रियों के अटेर दौरे शुरू करवा दिए गए थे। मंत्रियों ने खुली अपील भी की। जातिवाद के गणित को ध्यान में रखते हुए भदौरिया के लिए काम किया जा रहा है। बता दें कि अरविंद भदौरिया को ब्राह्मण विरोधी नेता माना जाता है और अटेर में बिना ब्राह्मण वोट के चुनाव जीतना संभव ही नहीं है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week