मुंबई में गठबंधन के लिए RSS की मध्यस्थता

Monday, February 27, 2017

मुंबई। भाजपा के लिए काम करने वाले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने एक बार फिर भाजपा की लाज बचाने के लिए आगे कदम बढ़ाया है। महाराष्ट्र के बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के चुनाव में खंडित परिणाम आने के बाद जारी राजनीतिक गतिरोध के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक एमजी वैद्य भाजपा से गठबंधन के लिए शिवसेना को मना रहे हैं। उन्होंने ढाई-ढाई साल का फार्मूला पेश किया है। इतना ही नहीं इसके तहत सबसे पहले शिवसेना का मेयर बनाने का भी प्रस्ताव दिया है। कुल मिलाकर संघ नहीं चाहता कि महाराष्ट्र में शिवसेना से उसका गठबंधन पूरी तरह से टूट जाए और भाजपा सत्ता से बेदखल हो जाए। 

प्रदेश में खंडित परिणाम आने के बाद अटकलें लगायी जा रही थीं कि शिवसेना कांग्रेस का समर्थन ले सकती है, लेकिन सोमवार को कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन करने के मसले पर अपना हाथ पीछे खींच लिया। उसने कहा है कि उद्धव ठाकरे की पार्टी शिवसेना का समर्थन करने का कोई सवाल ही नहीं है। कांग्रेस के इस फैसले के बाद मेयर पद को लेकर प्रदेश की राजनीतिक भाजपा और शिवसेना के बीच होने वाले गंठबंधन पर आकर टिक गयी है।

बीएमसी चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। हालांकि, शिवसेना सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, लेकिन भाजपा ने भी दूसरा स्थान पाने में सफलता हासिल की है। 227 सीटों वाली बीएमसी में शिवसेना को 84, बीजेपी को 82, कांग्रेस 31, एनसीपी को 7 और एमएनएस को 7 सीटें मिली हैं। बहुमत का आंकड़ा 114 होता है।

कांग्रेस से हाथ मिलाने पर विचार कर सकती है राकांपा
बीएमसी में मेयर पद को लेकर बनी असमंजस की स्थिति में राकांपा ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने के प्रति अपनी मंशा जाहिर की है। पार्टी सुप्रीमो शरद पवार ने कहा कि उनकी पार्टी सभी नगर निगमों और जिला परिषदों में कांग्रेस से हाथ मिलायेगी। हालांकि, मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने इस बात से पहले ही इनकार कर दिया है कि भाजपा बीएमसी में कांग्रेस की मदद मांग रही है। पवार ने नांदेड़ में संवाददाताओं से कहा कि राकांपा चुनाव बाद के परिदृश्य में राज्य के सभी 10 नगर निगमों और 25 जिला परिषदों में गठबंधन करेगी।

पवार ने कहा कि अगर दोनों पार्टियां गठबंधन करती हैं, तो 25 जिला परिषदों में से करीब 17 से 18 में सत्ता में आ सकती हैं। आने वाले दिनों में मुंबई में एक बैठक होने वाली है, जहां गठबंधन को अंतिम रूप दिया जायेगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week