CCRO: पुलिस के नाम पर ठगी का आरोप, राष्ट्रीय अध्यक्ष गिरफ्तार - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

CCRO: पुलिस के नाम पर ठगी का आरोप, राष्ट्रीय अध्यक्ष गिरफ्तार

Saturday, October 15, 2016

;
इंदौर। पुलिस ने क्राइम कंट्रोल एंड रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (CRIME CONTROL AND RESEARCH ORGANISATION) के दो पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि ये पदाधिकारी पुलिस के साथ मिलकर अपराधों पर नियंत्रण करने का झांसा देकर लोगों को संगठन में पदाधिकारी बनाते थे। इस संगठन में एडिशनल एसपी, प्रेसीडेंट, सीनियर वॉइस प्रेसिडेंट व मीडिया कॉर्डिनेटर के पद भी शामिल हैं। इसके लिए 1100 रुपये से लेकर 35000 तक लिए जाते थे थे। गिरफ्तार मुलजिमों में संगठन का राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्य प्रमुख शामिल है।

चंदन नगर पुलिस के मुताबिक, लोहा कारोबारी अतुल डागरिया, मो. हुसैन पीठावाला, राहुल सुरागे, अमन परिहार, संजय चौहान, तारा पंडित, जीतू साहू, अनीस खान आदि ने पुलिस को बताया कि जाकिर बोहरा निवासी नूरानी नगर पुलिस के नाम पर ठगी कर रहा है। वह खुद को सीसीआरओ नामक संगठन का राज्य प्रमुख बताता है।

रुपये लेकर विभिन्न पदों के आईकार्ड और लेटरहेड बना कर देता है। पुलिस ने इस सूचना की गोपनीय जांच की और गुरुवार रात उसे और प्रदीप डोबरियाल के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर शुक्रवार को गिरफ्तार किया। पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी लोगों को पुलिस के साथ मिलकर अपराध नियंत्रण एवं अनुसंधान करने का झांसा देते थे।

उन्होंने लोगों को बताया कि संगठन भारत सरकार से मान्यता प्राप्त है जो पूरे देश में काम करता है। इसका मूल काम पुलिस की मदद से अपराधों पर नियंत्रण करना और अनुसंधान करना है। लोग झांसे में आते गए और लाखों रुपये डोनेशन राशि देकर सदस्य व पदाधिकारी बन गए।

पुलिस को सर्चिंग के दौरान रेट लिस्ट भी मिली है जिसमें एएसपी के पद की जानकारी मिली है। इसके लिए जाकिर और प्रदीप 25 हजार रुपये लेते थे। प्रेसीडेंट 25 हजार, सेक्रेटरी 25 हजार, जनरल सेक्रेटरी 15 हजार, मीडिया कॉर्डिनेटर 18 हजार, लीगल एडवाइजर 18 हजार और सदस्य बनाने के लिए 1100 से 3500 तक लेते थे। इसका मुख्यालय दिल्ली में होने की जानकारी मिली है। पुलिस ने दिल्ली की अपराध शाखा से इसकी जानकारी साझा की है।
;

No comments:

Popular News This Week