शहडोल और नेपानगर में चुनावी खर्चों की निगरानी करने के आदेश - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

शहडोल और नेपानगर में चुनावी खर्चों की निगरानी करने के आदेश

Tuesday, October 18, 2016

;
भोपाल। मध्यप्रदेश के शहडोल लोकसभा और नेपानगर विधानसभा उप चुनाव के दौरान राजनैतिक दलों एवं अभ्यर्थियों के खर्चों पर निगरानी रखने के लिये निर्वाचन क्षेत्रों में आने वाले 5 जिला कलेक्टर को निर्देश दिये गये हैं। शहडोल संसदीय क्षेत्र के शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, कटनी तथा नेपानगर के लिये बुरहानपुर जिले के कलेक्टर को निर्वाचन व्यय पर निगरानी के लिये चुनाव आयोग के निर्देशों का सख्ती से पालन करवाने को कहा गया है।

जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्वाचन व्यय संबंधी निर्देशों का भली-भाँति अध्ययन कर प्रत्येक स्तर पर पालन सुनिश्चित करवाने को कहा गया है। उन्हें सबसे पहले निर्वाचन व्यय निगरानी के लिये जिला नोडल अधिकारी की नियुक्ति पर संबंधितों की बैठक करने के निर्देश दिये गये हैं। जिन प्रतिनिधियों के लेखे के रजिस्टर, शेडो रजिस्टर आदि तैयार करवाने के लिये कहा गया है। विभिन्न सामग्री की दरों के निर्धारण के लिये राजनैतिक दलों के साथ बैठक कर उसे वेबसाइट पर प्रदर्शित करने के निर्देश दिये गये हैं।

दोनों उप चुनाव के क्षेत्रों में सहायक व्यय प्रेक्षक, फ्लाइंग स्क्वाड, स्थैतिक निगरानी, वीडियो निगरानी, वीडियो अवलोकन और लेखा टीम तथा मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति, शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण-कक्ष एवं कॉल-सेंटर निर्मित करने के निर्देश भी दिये गये हैं। कॉल-सेंटर ‍24×7 कार्य करेगा। जिला कलेक्टर्स को अवैध शराब को रोकने के लिये आबकारी विभाग के उड़नदस्तों को तैनात करने के निर्देश दिये गये हैं। बैंकों को चेक-बुक आदि तुरंत प्रदाय करने और अभ्यर्थी का तत्काल खाता खोलने के निर्देशों की जानकारी देने के लिये कहा गया है। राजनैतिक दलों को भी प्रतिदिन के लेखे तथा निर्वाचन व्यय निगरानी के निर्देशों की जानकारी देने के निर्देश दिये गये हैं। नाम निर्देश-पत्र भरने वाले अभ्यर्थियों को दिन-प्रतिदिन के लेखे का रजिस्टर नामांकन भरने के साथ ही प्रदाय करने को कहा गया है।

जिला कलेक्टर्स को निर्वाचन व्यय संबंधी संवेदनशील विधानसभा क्षेत्र की जानकारी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को तत्काल उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये गये हैं। संवेदनशील क्षेत्रों का चयन सेक्टर एवं पुलिस अधिकारियों आदि से इनपुट प्राप्त कर किया जाना चाहिये।
;

No comments:

Popular News This Week