वेतन नहीं मिला: डेंगू पीडित बेटी का इलाज नहीं करा पा रहा शिक्षक - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

वेतन नहीं मिला: डेंगू पीडित बेटी का इलाज नहीं करा पा रहा शिक्षक

Friday, October 14, 2016

;
सागर। केसली ब्लॉक के कन्या संकुल के 130 से अधिक शिक्षक वेतन नहीं मिलने से परेशान हैं। अक्टूबर माह के 13 दिन निकल चुके हैं, लेकिन अभी तक यह तय नहीं है कि इनको वेतन कब मिलेगा। स्थानीय शिक्षकों का आरोप है कि आहरण अधिकारी की लेटलतीफी के चलते वेतन अटका है। बताया गया है कि संकुल के ही एक शिक्षक की बेटी को डेंगू हो गया है। 8 अक्टूबर को नगर के एक निजी अस्पताल से उसे भोपाल रेफर कर दिया गया। वहां पर इलाज चला। इसमें करीब 50 हजार रुपए इलाज पर खर्च हो गए। वेतन नहीं मिलने और पैसों की कमी के चलते शिक्षक अपनी बेटी को डिस्चार्ज कराके वापस सागर लौट आए। डॉक्टर ने 16 अक्टूबर को फिर से भोपाल आने को कहा है। शिक्षक ने बताया कि तब तक वेतन मिल गया तो ठीक, नहीं तो यहां-वहां से व्यवस्था कराके इलाज कराने तो जाना ही पड़ेगा। 

चार संकुल के शिक्षकों को थी समस्या : 
बताया गया है कि केसली ब्लॉक के चार संकुल के आहरण-वितरण अधिकार कैलाश बडगैंया हैं। तीन संकुल के शिक्षकों को एक दिन पहले ही वेतन मिला है, जबकि कन्या संकुल के अध्यापक संवर्ग के करीब 130 शिक्षकों को अभी भी सितंबर माह का वेतन नहीं मिला है। जबकि संकुल से बिल बनाकर 29 सितंबर को भेज दिया गया था। अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष बलवंत यादव ने बताया कि शासन के निर्देश हैं कि हर हाल में 1 या 2 तारीख तक वेतन मिल जाना चाहिए। 

विसंगतियों के कारण अटका वेतन : 
आहरण अधिकारी कैलाश बडगैंया का कहना है कि वेतन को लेकर जो बिल बनकर आया, उसमें कुछ विसंगतियां थीं। उनका निराकरण करने के लिए संबंधित संकुल को बोला था, वह हुआ नहीं। इस कारण से वेतन अटक गया है। जल्दी ही वेतन आवंटित किया जाएगा। 
;

No comments:

Popular News This Week