छात्रा से टीचर ने भरी क्लास में पूछा prostitute और brothel का मतलब - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

छात्रा से टीचर ने भरी क्लास में पूछा prostitute और brothel का मतलब

Wednesday, September 14, 2016

;
लखनऊ। The Avadh School गोमतीनगर में एक निर्धन छात्रा के शोषण का मामला सामने आया है। हाईस्कूल में पढ़ने वाली एक गरीब छात्रा से टीचर ने भरी क्लास में prostitute और brothel का अर्थ पूछा। इसके बाद कहा कि पहला शब्द तुम्हे परिभाषित करता है और तुमने क्लास में दूसरे शब्द में बदल दिया है। बता दें कि prostitute का हिंदी अर्थ होता है वैश्या एवं brothel का हिंदी में वैश्यालय कहते हैं। जब बच्ची के पिता ने स्कूल में विरोध दर्ज कराया तो उन्हें भी डांटकर भगा दिया गया। मीडिया के दखल के बाद मामला सुर्खियों में आया और जांच शुरू हुई। 

क्या है पूरा मामला 
बच्ची के पिता ने बताया कि उनकी 14 साल की बेटी गोमतीनगर के विपुल खंड स्थित द अवध स्कूल में दसवीं की स्टूडेंट है। पिता बेहद गरीब हैं और एनजीओ की मदद से फीस भरकर बेटी को उस बड़े स्कूल में पढ़ा रहे हैं। एडमिशन के टाइम से ही स्कूल के टीचर्स और मैनेजमेंट बच्ची के साथ भेद भाव कर रहे थे लेकिन बेटी की अच्छी पढ़ाई के लालच में उन्होंने और उनकी बेटी ने ये सब सहा। पिछले हफ्ते क्लास में बच्चे शोर मचा रहे थे, तभी वहा इनकी इंग्लिश टीचर आ गई। उन्होंने इनकी बेटी के हाथ में डिक्शनरी थमा दी।

इसके बाद पहले prostitute का मतलब पूछा, उनकी बेटी ने डिक्शनरी से देख कर उसका अर्थ बताया। इसके बाद उन्होंने brothel का मतलब पूछा, इसको भी बेटी ने डिक्शनरी से देख कर उसका अर्थ बताया। बच्ची के पिता ने बताया कि दोनों अश्लील शब्दों का मतलब पूछने के बाद टीचर ने अश्लील कमेंट किया। टीचर ने बच्ची से कहा कि जो पहला शब्द है वो तुम खुद हो और दूसरा शब्द है वो तुमने पूरी क्लास को बना दिया है। इसके बाद बच्चे उसका मज़ाक उड़ाने लगे। इससे परेशान होकर बच्ची ने अपने हाथ की नस काट ली। उसको घर वालों ने डॉ राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल में भारती करवाया। बच्ची मानसिक रूप से टूट गई। 

मीडिया ने की मदद 
मामला संज्ञान में आने के बाद लखनऊ के प्रमुख मीडिया ग्रुप ने इसको फॉलो किया और महिला सम्मान प्रकोष्ठ से संपर्क किया। इसके बाद सोमवार को महिला सम्मान प्रकोष्ठ ने बच्ची के पिता को लिखित एप्लीकेशन देने के लिए कहा। महिला सम्मान प्रकोष्ठ की इंस्पेक्टर सत्या सिंह ने बताया की मामले की जांच शुरू कर दी गई है। बच्ची से मुलाकात करके उसको कम्फर्टबल करने की कोशिश की जा रही है। 
;

No comments:

Popular News This Week