तुम्हारी औकात कैसे हुई मुझे ग्रुप से हटाने की: कांग्रेसी विधायक ने पत्रकार को दी धमकी

Sunday, September 25, 2016

;
राजेश शुक्ला/अनूपपुर। पत्रकारों ने इन दिनों सोशल मीडिया पर नेताओं का बहिष्कार करना शुरू कर दिया है। पत्रकार सभी नेताओं को अपने वाट्सएप ग्रुप से हटा रहे हैं। इसी क्रम में पत्रकार विनय कुमार ने भी कोतमा विधायक मनोज अग्रवाल को अपने वाट्सएप ग्रुप से निकाल बाहर किया। बस फिर क्या था, कांग्रेसी विधायक भाषाई गुंडागर्दी पर उतर आए। रात 10 बजे फोन करके पत्रकार को धमकी दी। 

विधायक ने दी धमकी
कांग्रेस पार्टी कोतमा विधानसभा के विधायक मनोज अग्रवाल को समूह से हटाये जाने उन्हे अपने सम्मान का ख्याल आया और वह रात्रि 10 बजे फोन लगाकर पत्रकार को धौंस देते हुए कहा कि तुम्हारी औकात कैसे हुई कि मुझे समूह से हटा दिया। दुबारा ऐसी हरकत किए तो ठीक नहीं होगा।

किस बात का विरोध
मौजूदा समय में पत्रकारों को चाहे वह कांग्रेस या बीजेपी दोनों दलों के नेताओं ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी फोटो और खबरे भेजकर कार्यक्रमों का कव्हरेज करा लेते है तथा पत्रकारों की पूछ परख कोई करने वाला नहीं है। जिस बात को लेकर पत्रकार अपने सम्मान की लडाई लडने का निर्णय लिया और यह तय किया कि अब सोशल मीडिया वॉटसएप व फेसबुक के माध्यम से नेताओं को हीरो बनाने का काम बंद किया जाये। जब तक राजनैतिक दलों के निमंत्रण कार्ड या नेताओं के फोन मीडियाकर्मियों के पास नहीं आते है तब तक कोई भी मीडियाकर्मी नेताओं की खबरों का प्रकाशन नहीं करेगा।

इनका कहना है
पूरे देश में किसी को अधिकार नहीं है कि बिना पूछे किसी ग्रुप में जोड़ ले और बिना पूछे निकाल दे। प्रधानमंत्री को भी यह अधिकार नहीं है। हॉं हमने पत्रकार से कहा कि इस तरह की जुर्रत कभी दूबारा मत करना, इसमें कोई ऐसी धमकी वाली बात नहीं है।
मनोज अग्रवाल
विधायक, कोतमा
;

No comments:

Popular News This Week