भोपाल में कचरे का फोटो खींचकर अपलोड कर दीजिए, 24 घंटे में क्लीन

Thursday, September 8, 2016

भोपाल। नगरनिगम भोपाल ने दावा किया है कि वो भोपाल शहर को पूरी तरह से क्लीन कर देगा। 15 सितम्बर से निगम इसे एक चुनौती की तरह लेकर काम शुरू करने जा रहा है। 'स्वच्छता ऐप' लांच किया गया है। आपको सिर्फ इतना करना है कि कचरे का फोटो खींचकर इस पर अपलोड कर दें। नगरनिगम का अमला 24 घंटे के भीतर ना केवल कचरा साफ करेगा बल्कि सफाई के बाद का फोटो भी आपके मोबाइल पर सेंड करेगा। 

15 सितंबर से यह स्वच्छता ऐप शुरू हो जाएगा। नगर निगम ने इसकी लॉचिंग की तैयारी पूरी कर ली है। इस सुविधा को सभी 85 वार्डों में लागू किया जा रहा है। निगम अधिकारियों के अनुसार स्वास्थ्य विभाग के दरोगा से लेकर एएचओ, एचओ को इसकी ट्रेनिंग दी जा चुकी है। कचरा उठाने की समय सीमा पहले 48 घंटे रखी गई थी, जिसे घटाकर अब 24 घंटे किया गया है।

ऐसे काम करेगा ऐप
स्मार्ट फोन में स्वच्छता ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकेगा। यह ऐप जीपीएस आधारित है। जैसे ही लोग कचरे का फोटो खींचकर एप पर डालेंगे वह संबंधित स्वास्थ्य पर्यवेक्षक व सहायक स्वास्थ्य अधिकारी (एएचओ) के मोबाइल ऐप पर रेड पॉप अप के रूप में दिखेगा। इसके बाद संबंधित अधिकारी अपने क्षेत्र के स्वच्छता कर्मचारी व कचरा वाहन को उस जगह भेजकर कचरा उठवाकर उस स्थान का फोटो डालेगा।

कचरा उठने के बाद उस स्थान पर ग्रीन पॉप अप चिन्ह शिकायतकर्ता को दिखने लगेगा। इसके बाद शिकायतकर्ता उस कार्य के होने पर ग्रीन बटन दबाकर अपनी प्रतिक्रिया दे सकेगा। ऐप की विशेषता यह रहेगी कि कचरे का स्थान दर्शाने वाले क्षेत्र के पास जाने के लिए जीपीएस आधारित व्यवस्था है, जिससे कचरा उठाने के लिए निगम अमले को भटकना नहीं होगा।

समाधान नहीं हुआ तो ऐसे होगी मॉनीटरिंग
शिकायतकर्ता जैसे ही फोटो अपलोड करेगा वह पहले एएचओ को दिखेगी। एएचओ 24 घंटे के अंदर संबंधित वार्ड दरोगा को गाड़ी के साथ कचरा वाले स्थान पर रवाना करेंगे। जैसे ही कचरा उठ जाएगा, उसका फोटो अपलोड करेंगे। 24 घंटे बाद एचओ के पास रेड पॉपअप प्रदर्शित होगा। फिर यहां भी समाधान नहीं हुआ तो क्रमशः स्वास्थ्य उपायुक्त, अपर आयुक्त के पास रेड पॉप अप प्रदर्शित होगा। करीब 10वें दिन निगम कमिश्नर के पास ब्लैक पॉपअप प्रदर्शित होगा। इसके बाद लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित होगी।

फीडबैक भी दे सकेंगे
शहर में सफाई व्यवस्था के लिए यह ऐप कारगर साबित होगा। 15 सितंबर से एप की सुविधा शुरू हो जाएगी। लोग ऐप को अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर क्षेत्र को साफ सुथरा बनाने में अपना सहयोग दे सकेंगे। 
एमपी सिंह, अपर आयुक्त नगर निगम

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week