केजरीवाल ने मोदी को ताने मारने में 70 लाख लुटा डाले: CAG रिपोर्ट

Thursday, August 25, 2016

नईदिल्ली। केजरीवाल सरकार ने जिस तरह से विज्ञापनों पर सरकारी खजाना लुटाया अब वो सवालों की जद में आ गया है। ‘AAP की सरकार’ और झाडू लहराते एक व्यक्ति के माध्यम से केजरीवाल ने सरकार नहीं बल्कि अपनी पार्टी का प्रचार किया। इतना ही नहीं मोदी सरकार को ताने मारने में केजरीवाल सरकार ने जनता के 70 लाख लुटा डाले। 

भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक ने अपनी रिपोर्ट में दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। CAG के अनुसार, आम आदमी पार्टी सिर्फ एक विज्ञापन अभियान पर 33.4 करोड़ रुपए खर्च किए, जिसका 85 फीसदी हिस्‍सा दिल्‍ली के बाहर खर्च किया गया। CAG की यह रिपोर्ट आम आदमी पार्टी सरकार की सत्‍ता के पहले साल में विज्ञापन पर किए गए धुआंधार खर्च पर उंगली उठाती है। 55 पन्‍नों की रिपोर्ट में सीएजी ने दिल्‍ली सरकार पर टेलीविजन विज्ञापनों पर जनता के धन का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। 

रिपोर्ट में कहा गया है दिल्‍ली सरकार ने टीवी पर एक व्‍यक्ति को झाड़ू लहराते दिखाया जो कि AAP का चुनाव चिन्‍ह है, और उन्‍होंने ‘AAP की सरकार’ का संदर्भ दिया जो कि पार्टी का प्रचार है, न कि सरकार का। रिपोर्ट के मुताबिक, राज्‍य सरकार की बहुत सी उपलब्धियों को मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी प्रयासों की बदौलत दिखाया गया है। विपक्षी पार्टियां पहले भी केजरीवाल सरकार पर यह आरोप लगा चुकी हैं।

सी‍एजी रिपोर्ट में यह भी कहा गया है AAP सरकार ने विज्ञापनों पर जो 526 करोड़ रुपए खर्च किए हैं, वह उनमें से 100 करोड़ से ज्‍यादा का हिसाब दे पाने में नाकाम रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्‍ली सरकार ने यहां की खराब कानून व्‍यवस्‍था पर केन्‍द्र सरकार को जिम्‍मेदार ठहराते हुए 70 लाख रुपए खर्च कर डाले। सीएजी ने विज्ञापनों में केजरीवाल सरकार द्वारा किए गए दावों पर भी सवाल उठाए जैसे जब सरकार ने दावा किया उसने तीन पुलों का निर्माण तय समय में, कम बजट में पूरा कर लिया। सीएजी का आरोप है कि यह दावा गलत है क्‍योंकि पुलों पर अभी का ठीक ठाक काम बाकी पड़ा है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week