छत्तीसगढ में बढ़ गया अध्यापकों का वेतन 20950-30514, अब निगाहें मध्यप्रदेश पर

Friday, May 31, 2013

;
भोपाल: म0प्र0 व छत्तीसगढ में एक साथ लम्बी हड़ताल के बाद छत्तीसगढ सरकार ने समान कार्य समान वेतन के आदेश् जारी होने के साथ सहायक अध्यापक को कुल वेतन 20940 शिक्षक पंचायत का कुल वेतन 28401 तो व्याख्याता पंचायत अर्थात् वरिष्ठ अध्यापक का कुल वेतन 30514 हो गया।

उक्त विषय पर मध्यप्रदेश अध्यापक मोर्चे के संरक्षक मनोज मराठे ने जानकारी देते हुए बताया कि सहायक शिक्षक पंचायत 8 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके शिक्षको को पुनरीक्षित वेतनमान 5200-20200़2400 से कुल वेतन 19201 तो 2 वर्ष में एक वेतन वृद्धि कुल तीन वेटेज जोड़ने पर सकल देय सभी भत्तो के साथ 20940 हो गया है। इसी तरह शिक्षक पंचायत अर्थात् वर्ग 2 अध्यापक को 9300-34800़4200 से कुल वेतन 26045 तो 2 वर्ष में एक वेतन वृद्धि कुल तीन वेटेज जोड़ने पर सकल देय सभी भत्तो के साथ 28401 हो गया है। 

इसी तरह व्याख्याता पंचायत अर्थात् वर्ग 1 वरिष्ठ अध्यापक को 9300-34800़4300 से कुल वेतन 27971 तो 2 वर्ष में एक वेतन वृद्धि कुल तीन वेटेज जोड़ने पर सकल देय सभी भत्तो के साथ 30514 हो गया है। इस कुल  वेतन मंे 80 प्रतिशत महंगाई भत्ता 7 प्रतिशत एचआर 200 रूपये चिकित्सा भत्ता 600 रूपये गतिरोध भत्ता तिनो वर्गो के वेतन मंे सम्मिलित है। इस तरह एक ओर जहां देानो राज्यंांे में आंदोलन के बाद शिक्षाकर्मिय बनाम अध्यापक संवर्ग केा छत्तीसगढ में वेतन समान कार्य समान वेतन के तहत मिल गया है तो वही मध्यप्रदेश के समस्त अध्यापक संवर्ग दिन प्रतिदिन शिवराज सरकार का मुह ताक रहे है जो रोज अध्यापको को जहा मिलते वहा केवल दो दिन बाद आदेश निकालने का आश्वासन दे रहे है तो वही अध्यापक संगठन के प्रमुख मुरलीधर पाटिदार, मनोहर प्रसाद दुबे, ब्रजेश शर्मा व अन्य पदाधिकारी एकदम निष्क्रिय व मोन है पुरे प्रदेश के अध्यापक उनकी निष्क्रियता और मौन को समझ नही पा रहे है ऐसी स्थिति मंे यदि यह संगठन प्रमुख मुरलीधर पाटिदार, मनोहर प्रसाद दुबे, ब्रजेश शर्मा यदि स्वयं आंदोलन के लिए सक्षम नही है और संगठन का दायित्व निर्वाहन नही कर सकते तो अपने अपने संगठन के मजबूत कर्मठ कार्यकर्ताआंे को जिम्मेदारी देकर बाहर से सलाह और सहयोग देते हुए अपने पदो से त्यागपत्र देकर दुसरो को मौका दे ताकि वे स्वयं यदि अभी कुछ नही कर रहे है तो कर्ताधर्ताओं को मौका दे क्योकि अब जब छत्तीगढ के साथियांे को समान कार्य समान वेतन मिल गया है और हमारे साथियांे का सब्र का बांध टुट गया है। ऐसे में एक ही मार्ग है आंदोलन आंदोलन आंदोलन।

आपका 
मनोज मराठे 
संयुक्त मोर्चा मध्यप्रदेश 
9826699484

;

No comments:

Popular News This Week

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...