CTET JANUARY 2024 Preparation Tips in Hindi Part 7 - परीक्षा पास करने के सरल तरीके

CTET जनवरी 2024 का आयोजन 21 जनवरी 2024 को होने जा रहा है जिसकी तैयारी के लिए अब मात्र 7 दिनों का ही समय बचा हुआ है। अब जरूरी है कि अपनी तैयारी को एकदम Focused और OMR SHEET के सर्कल्स को बिल्कुल "मछली की आंख" की ध्यान में रखते हुए करना है। याद रखिए की TEST BOOKLET, INPUT है परंतु आपका OUTPUT, OMR SHEET ही है। याद रखिए कि इनपुट और प्रोसेस को कोई नहीं देखेगा सिर्फ आउटपुट को ही देखते हैं और वही चेक होता है और उसी से आपका रिजल्ट डिसाइड होगा।

CTET केवल Qualifying Exam है 

मोस्टइंपॉर्टेंट बात यह है कि इस बार सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (Central Teacher Eligibility Test) एग्जाम ऑफलाइन हो रहा है और इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि नेक्स्ट ईयर ऑनलाइन हो जाए! ऑनलाइन एग्जाम में बहुत सारे पेपर होने की वजह से कंपटीशन और भी ज्यादा बढ़ जाता है इसलिए बेहतर होगा कि आप अभी इन्हीं 7 दिनों में अपनी तैयारी को बूस्ट करें और CTET Exam किसी भी तरह "By Hook Or Crook" Qualify करके ही मानें। चूँकि यह एक क्वालीफाइंग एक्जाम है और इसमें आपका किसी से कोई कंपटीशन नहीं है। आपको सिर्फ अपनी कैटेगरी में अपने क्वालीफाइंग मार्क्स से मतलब है, ना कि आपको किसी Merit या Cut off के पीछे भागना है।

HOW TO QUALIFY CTET EXAM IN 7 DAYS 

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा पेपर 1 और पेपर 2 दोनों में ही 90 मार्क्स CDP (Child Development and Pedagogy) के होते हैं, यानी बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र जो कि किसी न किसी रूप में सब्जेक्ट के साथ या अलग से होता है
जो पूरी तरह आपकी समझ के ऊपर निर्भर करता है। इसे सॉल्व करने के लिए आप अपने आसपास, घर- परिवार के बच्चों को उनकी Age के हिसाब से अपने दिमाग में सेट कर लीजिए। जैसे - 0 से 2 साल तक का कौन सा बच्चा आपने देखा है और वह क्या-क्या कर लेता है, कब उसने पलटना शुरू कर दिया था, कब पेट के बल चलता था, कब वह घुटने चलने लगा, कब उसने थोड़े शब्द बोलना शुरू कर दिए, कब वह चीजों को पकड़ने लगा यह सब आपको क्वेश्चनों को प्रैक्टिकली समझने में काफी मदद करेगा।

TIP & Trick to Solve Language Pedagogy 1 & 2 

Language section में आने वाली CDP बच्चों की सुनने, बोलना,पढ़ने, लिखने (LSRW) की प्रक्रिया से संबंधित होती है और इसे यदि आप इसी क्रम से याद रख लेंगे की तो आपके पांच क्वेश्चन कम से कम इसी से संबंधित होंगे क्योंकि सबसे पहले बच्चा सुनता है सुन-सुन के जब पक जाता है तो बोलना शुरू कर देता है। इसी तरह यदि पढ़ने की बात करें तो पहले बच्चा उंगली रखरख के पढ़ना सीखना है और इसके बाद सबसे आखिर में वह लिखना सीखना है, क्योंकि लिखने की प्रक्रिया सबसे जटिल होती है। इसे आप "LSRW" या "सुबोपलि" से याद रख सकते हैं और यह ट्रिक आपको दोनों ही लैंग्वेज, Language 1 और Language  2 में बराबरी से काम आएगी।  ✒ SHAILY SHARMA (CTET QUALIFIED)

⇒ पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें। यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !