BHOPAL NEWS - भाजपा की सुनामी के बावजूद ध्रुव नारायण और आलोक शर्मा हार गए

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 में भारतीय जनता पार्टी की लहर या आंधी नहीं थी, सुनामी चलती हुई दिखाई दी। कांग्रेस पार्टी 65 सीटों पर से मत गई और भारतीय जनता पार्टी 164 सीटों पर, यानी पूर्ण बहुमत के लिए अनिवार्य 116 से 49 अधिक पर जीत दर्ज करवाई है। कुछ चुनाव परिणाम आ गए हैं और कुछ आने बाकी है इन आंकड़ों में हल्का-फुल्का अंतर। राजधानी भोपाल में अचानक चुनाव में उतारे गए श्री भगवान दास सबनानी भी चुनाव जीत गए परंतु ध्रुव नारायण सिंह और आलोक शर्मा जैसे दिग्गज चुनाव हार गए। 

आलोक शर्मा जैसे दिग्गज को आरिफ अकील के लड़के ने हरा दिया

भोपाल उत्तर विधानसभा सीट में श्री आरिफ अकील के चुनावी राजनीति से बाहर हो जाने के बाद उत्तराधिकार की लड़ाई शुरू हो गई थी। भारतीय जनता पार्टी द्वारा श्री आलोक शर्मा को अपने चुनाव प्रचार का पर्याप्त समय दिया गया था। इसके बावजूद न तो श्री आलोक शर्मा जनता के बीच में अपनी पकड़ मजबूत कर पाए और ना ही कांग्रेस पार्टी में आई दरार का फायदा उठा पाए। श्री आरिफ अकील के सुपुत्र श्री आतिफ अकील ने श्री आलोक शर्मा को 26987 वोटो से पराजित कर दिया। यहां ध्यान दिलाना जरूरी है कि श्री आतिफ अकील अपने जीवन का पहला चुनाव लड़ रहे थे और श्री आलोक शर्मा की पूरी जिंदगी ही राजनीति में बीत गई है। 

ध्रुव नारायण सिंह प्रचार के दौरान मंत्री बनकर घूम रहे थे

भोपाल मध्य विधानसभा सीट से कांग्रेस पार्टी ने अपने विधायक श्री आरिफ मसूद को चुनाव में उतारा था जबकि भारतीय जनता पार्टी की ओर से श्री ध्रुव नारायण सिंह अधिकृत प्रत्याशी थे। जब उनके नाम की घोषणा हुई तो भाजपा के कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी थी कि, श्री ध्रुव नारायण सिंह एक दबंग नेता है और अपना हक छीन कर ले आए है। चुनाव प्रचार के दौरान श्री ध्रुव नारायण सिंह की बॉडी लैंग्वेज, कई लोगों ने नोट की। प्रतिक्रिया भी व्यक्त की गई। कहा गया कि हमारे क्षेत्र में विधानसभा चुनाव का प्रत्याशी नहीं बल्कि मंत्री जनसंपर्क कर रहा है। श्री सिंह मान बैठे थे कि वह चुनाव जीतेंगे और भाजपा की सरकार में मंत्री बनेंगे। ओवर कॉन्फिडेंस इतना कि मतदान वाले दिन भी घर से नहीं निकले थे। अपने ऑफिस की कुर्सी पर बैठकर, उंगली में लगा हुआ रंग दिखाकर, घोषित कर दिया था कि मैं मतदान कर दिया है। 

 पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार पढ़ने के लिए कृपया यहां क्लिक कीजिए। ✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें  ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करें। ✔ यहां क्लिक करके भोपाल समाचार का टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !