प्रधानमंत्री की एक अपील में सरकारी स्कूलों की सभी समस्याओं का समाधान - INDIA TODAY NEWS

Central Government Prime Minister news

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने आज एक नई परंपरा शुरू करके सरकारी स्कूलों की सभी समस्याओं के समाधान की तरफ एक महत्वपूर्ण कदम उठा दिया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जो किया है, यह किसी बिखरे हुए बरसाती पानी को संग्रहित करके खेतों की तरफ नहर बनाने जैसा है। 

भारत में हर स्कूल का जन्मदिन मनाया जाए: नरेंद्र मोदी

भारत में अब हर स्कूल का जन्मदिन मनाया जाएगा। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में अखिल भारतीय प्राइमरी शिक्षक संघ के कार्यक्रम में इसके लिए अपील की है। उन्होंने कहा कि स्कूल और स्टूडेंट के बीच डिस्कनेक्ट को दूर करने के लिए यह परंपरा शुरू की जा सकती है कि स्कूलों का जन्मदिन मनाएं। 

सरकारी स्कूलों की सभी समस्याओं का एक समाधान 

शिक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सरकारी स्कूलों की तमाम समस्याओं का एक समाधान भी दिया है। प्रधानमंत्री की इस अपील के बाद जब सभी स्कूलों का जन्मदिन मनाया जाएगा तो उसमें सभी पुराने स्टूडेंट्स को भी आमंत्रित किया जाएगा। इस प्रकार पुराने स्टूडेंट्स की रियूनियन भी हो जाएगी। जब वह स्कूल कैंपस में मिलेंगे तो स्कूल की समस्याओं का भी जिक्र होगा और क्योंकि पुराने स्टूडेंट्स, सक्षम हो चुके होंगे, वह अपनी शक्ति और सामर्थ्य के दम पर स्कूल की समस्याओं का समाधान भी कर देंगे। हर साल होने वाले इस कार्यक्रम के कारण शिक्षकों पर भी दबाव रहेगा और वह स्कूल में केवल उपस्थित रहने के बजाय पढ़ाने पर जोर देंगे।

सरकारी स्कूल के बच्चों को आरक्षण मिलता है

यहां उल्लेख करना अनिवार्य है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर कुछ राज्यों में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को कॉलेज एडमिशन में विशेष आरक्षण का लाभ दिया जाने लगा है। मध्यप्रदेश में मेडिकल कॉलेज एडमिशन में सरकारी स्कूल के बच्चों को 5% आरक्षण दिया गया है। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। यहां क्लिक करके व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर सकते हैं। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल - व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ स्पेशल भी होता है।

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Check Now
Accept !