सरकार किस भाषा का शब्द है, इसका हिंदी मीनिंग क्या है, SARKAR और Government में क्या अंतर है, पढ़िए

भारत में सरकार बेहद लोकप्रिय शब्द है। ज्यादातर लोग इसका प्रयोग करते हैं। उनके हिसाब से Government को हिंदी में सरकार कहते हैं परंतु Government का हिंदी मीनिंग तो शासन अथवा सत्ता है, और भी कुछ शब्द है लेकिन सरकार बिल्कुल नहीं है। आइए जानते हैं कि यह सरकार शब्द, किस भाषा का शब्द है और भारत में कहां से आ गया। 

सरकार, किस भाषा का शब्द है - SARKAR word which language

भारत में ब्रिटिश हुकूमत की स्थापना से लगभग 500 साल पहले फारसी आए थे। कहते हैं कि भारतीय भाषा के मूल में भी संस्कृत मौजूद है। भारतीय संस्कृति में फारसी भाषा के कई शब्द उपस्थित हैं। जो लोग हिंदी भाषा के विषय में नहीं जानते, वह लोग फारसी भाषा के शब्दों को भी हिंदी के शब्द मान लेते हैं। सरकार, फारसी (पर्शियन) भाषा का शब्द है। 

सरकार, शब्द का हिंदी अर्थ क्या है - hindi meaning of the word SARKAR

दरअसल, सरकार शब्द का हिंदी भाषा में कोई प्रॉपर मीनिंग नहीं है। जिस प्रकार भारत में पावरफुल लोगों के लिए हुजूर और माई बाप शब्दों का प्रयोग किया जाता था। ठीक इसी प्रकार फारसी संस्कृति में पावरफुल लोगों के लिए सरकार शब्द का प्रयोग किया जाता था। 

SARKAR और Government में क्या अंतर है

Government का अर्थ होता है शासन अथवा सत्ता अथवा शासन करने वाले लोगों का समूह। यहां जनता Government द्वारा बनाए गए नियमों का पालन करती है परंतु Government की जिम्मेदारियां भी निर्धारित होती हैं। Government एक संविधान के तहत गठित होती है और संविधान का उल्लंघन नहीं कर सकती। जबकि SARKAR शब्द पावरफुल यानी दबंग लोगों के लिए उपयोग किया जाता है। सरकार की कोई जिम्मेदारी निर्धारित नहीं होती और सरकार के अधीन जनता के कोई अधिकार नहीं होते। सब कुछ सरकार की मर्जी पर डिपेंड करता है। 

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि SARKAR एक लोकतांत्रिक शब्द नहीं है। लोकतंत्र में SARKAR शब्द का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि सरकार शब्द लोकतंत्र के विरुद्ध है। 

साभार:- यह लेख प्रतिष्ठित पत्रकार श्री अतुल पटेरिया, श्री अमित सिंह एवं भाषाई उत्पत्ति, परिवर्तन और विस्तार पर व्यापक शोध करने वाले वैज्ञानिक राजेंद्र गुप्ता के अनुसंधान एवं शास्त्रार्थ पर आधारित है। हम उनका धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। 

✔ इसी प्रकार की जानकारियों और समाचार के लिए कृपया यहां क्लिक करके हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें एवं यहां क्लिक करके हमारा टेलीग्राम चैनल सब्सक्राइब करें। क्योंकि भोपाल समाचार के टेलीग्राम चैनल पर कुछ स्पेशल भी होता है।