BHOPAL में एक और हाई प्रोफाइल हनीट्रैप गैंग, 2 महिलाएं, बड़े अधिकारियों से संबंध - MP NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश में एक हाई प्रोफाइल हनीट्रैप कांड पूरे देश की सुर्खियों में रह चुका है। फिलहाल कोर्ट में ट्रायल चल रहा है। अब भोपाल में एक और हनीट्रैप गैंग का खुलासा हुआ है। आज के समाचार के अनुसार इसमें दो महिलाएं और दो पुरुष हैं। पहला वाला बड़े नेताओं और ब्यूरोक्रेट्स से संबंधित था और दूसरा वाला पुलिस डिपार्टमेंट के बड़े अधिकारियों से संबंधित बताया जा रहा है। 

BHOPAL NEWS- भाजपा नेता के रिश्तेदार को फसाया इसलिए खुलासा हो गया

इस हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप रैकेट ने सीहोर के भारतीय जनता पार्टी के एक बड़े नेता के रिश्तेदार (जो एक सरकारी ठेकेदार है) को अपने जाल में फंसा लिया था। उससे पहचान बढ़ाई। फिर बर्थडे पार्टी इंजॉय करने के बहाने बुलाया। शराब के नशे में धुत कर दिया। वीडियो बनाया। 10000000 रुपए की डिमांड की। पहली किस्त की वसूली की। इस दौरान मारपीट भी की। घायल हो गया इसलिए मामला पुलिस तक पहुंच गया और खुलासा हो गया।

BHOPAL SAMACHAR- ब्लैकमेल करने बलात्कार की FIR दर्ज कराना चाहती थी 

इस मामले के इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर ने बताया कि हाई प्रोफाइल महिला, सरकारी ठेकेदार को ब्लैकमेल करने के लिए उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराना चाहती थी, लेकिन इससे पहले ठेकेदार के अकाउंट से अपने बैंक अकाउंट में कुछ पैसे ट्रांसफर करवा चुकी थी और पैसे मांगने के लिए फिर से फोन भी लगा चुकी थी। 

MP NEWS- इस महिला ने इंस्पेक्टर पति का जीना हराम कर दिया था

पुलिस ने बताया कि इस महिला का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। इसकी शादी एक सब इंस्पेक्टर के साथ हुई थी। एक बेटा और एक बेटी है। बाद में दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया। सब इंस्पेक्टर ने कोर्ट से तलाक ले लिया, लेकिन इस ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। इस दौरान पुलिस डिपार्टमेंट के कई सीनियर अधिकारियों के करीब पहुंच गई और अपने सब इंस्पेक्टर पति के खिलाफ मामले दर्ज करा दिए। अधिकारियों से नजदीकी का फायदा उठाकर उसे बर्खास्त करा दिया। हालात यह बने कि सब इंस्पेक्टर भोपाल छोड़कर चला गया। उसने भोपाल से बहुत दूर एक ऐसे थाने में अपनी पोस्टिंग करा ली जहां उसे लगता है कि वह इस महिला से सुरक्षित है। पति के साथ बेटा है। बेटी महिला के साथ रह रही है।

BHOPAL TODAY- इस हाई प्रोफाइल महिला का क्राइम रिकॉर्ड तैयार किया जा रहा है

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस हाई प्रोफाइल महिला का क्राइम रिकॉर्ड तैयार किया जा रहा है। पता चला है कि इससे पहले भी तीन लोगों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज करा चुकी है। एसपी ने मामले की जांच कराई तो सब कुछ फर्जी निकला था। एक टीआई और एक एडीजी के साथ इसके होने की बात सामने आई थी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इसकी एक सहेली भी है। वह भी अपने पति से अलग रहती है। शायद दोनों मिलकर भोपाल में हनी ट्रैप गैंग बना रही है। 

MP NEWS- पहले भी हनी ट्रैप रैकेट पकड़ा जा चुका है 

यहां उल्लेख अनिवार्य है कि इससे पहले भी एक हनीट्रैप रैकेट पकड़ा जा चुका है। उसमें भी दो महिलाएं थी। बाद में उन्होंने कुछ लड़कियों को अपने साथ शामिल कर लिया था। यह गैंग मूल रूप से मंत्रियों और पावरफुल ब्यूरोक्रेट्स को टारगेट करता था। पर्दा बनाए रखने के लिए एक एनजीओ का संचालन किया जा रहा था। इस रैकेट का खुलासा भी एक ठेकेदार के द्वारा किया गया था। वो ठेकेदार इंदौर का था। पकड़ी गई महिलाएं कई दिनों तक जेल में रही। तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मामले में नरम रुख अपनाया इसलिए पूरा खुलासा नहीं हुआ। फिलहाल महिलाएं जमानत पर बाहर हैं और कोर्ट में ट्रायल चल रहा है।