dhaniya ki panjiri khane ke fayde- धनिया की पंजीरी खाने की फायदे

धनिया जिसे इंग्लिश में कोरिएंडर (Corriender) कहा जाता है। इसका उपयोग धार्मिक, घरेलू और औषधीय हर तरह से उपयोग किया जाता है। कॉर्रिएंडर का वानस्पतिक नाम (Botanical Name) Corriandrum sativum है जो कि एक वार्षिक हर्ब है जो की फैमिली ऐपिएसी(Apiaceae) का सदस्य है। वैसे तो धनिया का पूरा पौधा ही काम में लिया जाता है परंतु विशेष रूप से इसकी पत्तियां और बीज हम ज्यादा उपयोग में लेते हैं। 

dhaniya ki panjiri ke fayde
तो चलिए आज हम धनिया के पिसे हुए बीज( Dhaniya Powder) से बनने वाली पंजीरी जिसे कि श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर बनाया जाता है, उससे खाने के  फायदे के बारे में जानते हैं।

चूँकि धनिया की पंजीरी को हम श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर बनाते हैं जिस समय बारिश का मौसम अपने चरम पर होता है और बारिश के मौसम में हम सभी का डाइजेस्टिव सिस्टम थोड़ा खराब हो ही जाता है इसलिए ऐसे में धनिया की पंजीरी खाने से हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम को काफी फायदा मिलता है।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर हम सभी उपवास करते हैं और उपवास खोलने के लिए इससे अच्छा (धनिया से अच्छा) NUTRIENTS कोई हो ही नहीं सकता। इस हिसाब से भी धनिया की पंजीरी काफी फायदेमंद होती है।

यदि आप ध्यान से देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि धनिया के बीज का आकार कुछ-कुछ हमारी आंखों से मिलता-जुलता होता है। इसलिए हमारी आंखों की हेल्थ के लिए भी धनिया पाउडर बहुत लाभदायक होता है। आंखों में होने वाली खुजली रेडनेस और इन्फ्लेमेशन से धनिया पाउडर या धनिया की पंजीरी राहत देती है। 

धनिया पाउडर में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं.इस कारण कई सारी बीमारियों जैसे -अर्थराइटिस, डायबिटीज, एलर्जी, थायराइड, हेवी मेंस्ट्रूअल फ्लो में भी धनिया की पंजीरी लाभदायक होती है।

इसके अलावा स्किन केयर, हेयर केयर ,वेट लूज करने में, हमारे इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग बनाने में भी धनिया पाउडर काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।