मध्यप्रदेश में सरकारी सर्किट और रेस्ट हाउस ऑनलाइन, कलेक्टर को भी किराया देना पड़ेगा - MP NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश में नियमित रूप से दौरे पर जाने वाले अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के लिए हमेशा आरक्षित रहने वाले सर्किट हाउस और रेस्ट हाउस अब उपरोक्त दोनों श्रेणियों के लिए खाली नहीं रहेंगे। OYO की तरह आम नागरिकों के लिए किराए पर उपलब्ध रहेंगे।

मध्य प्रदेश के 50 सर्किट हाउस और 45 रेस्ट हाउस को होटल और ओयो रूम्स की तरह किराए पर देने का फैसला किया गया है। इससे पहले इन सभी भवनों का रिनोवेशन किया जाएगा जिस पर लगभग 550 करोड रुपए खर्च किए जाएंगे। इसके बाद ऑनलाइन ओपन फॉर ऑल कर दिया जाएगा। बताया गया है कि सर्किट हाउस का एक रात का किराया 2000 रुपए व रेस्ट हाउस का 800 रुपए होगा।

कलेक्टर को भी किराया देना पड़ेगा
बताया गया है कि सर्किट हाउस और रेस्ट हाउस पूरी तरह से पेड हो जाएंगे। किसी भी वीआईपी के लिए फ्री में उपलब्ध नहीं होंगे। यदि किसी रेस्ट हाउस में कलेक्टर रुकते हैं तो उन्हें भी किराया देना पड़ेगा। सर्किट हाउस से मिला बिल लगाकर अपने डिपार्टमेंट से क्लेम ले सकते हैं। बताया यह भी जा रहा है कि यह पूरा कामकाज मध्य प्रदेश पर्यटन निगम को दे दिया जाएगा।