मध्य प्रदेश मानसून- 24 जिलों में भारी बारिश होगी, वज्रपात का खतरा- MP NEWS

भोपाल
। भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा मौसम का पूर्वानुमान एवं किसान मौसम बुलेटिन में बताया है कि मध्य प्रदेश के 24 जिलों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है जिसके कारण बरसाती नदी नालों में बाढ़ की स्थिति बन सकती है। यह स्थिति दिनांक 24 जुलाई तक बने रहने की संभावना है। मध्यप्रदेश में वज्रपात का खतरा बना हुआ है। इस मौसम में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- इन जिलों में भारी वर्षा का येलो अलर्ट

मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, नर्मदा पुरम, हरदा, बैतूल, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, गुना, अशोकनगर, भिंड, मुरैना, श्योपुर, अनूपपुर, डिंडोरी, मंडला, बालाघाट, सागर, छतरपुर, विदिशा, बुरहानपुर एवं खंडवा जिलों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा की संभावना है। मौसम विभाग द्वारा येलो अलर्ट जारी किया गया है। यानी अपनी सभी कार्य योजनाएं मौसम को ध्यान में रखते हुए बनाएं। यदि मौसम खराब होता है तो तत्काल स्वयं को सुरक्षित करें। उपरोक्त सभी जिलों में वज्रपात का भी खतरा बताया गया है। 

मध्य प्रदेश मौसम समाचार- पिछले 24 घंटे में कहां कितनी बारिश हुई

पिछले 24 घन्टो के दौरान प्रदेश के रीवा, सागर, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानो पर भोपाल एवं इंदौर संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर, जबलपुर संभाग के जिलों में कुछ स्थानो पर तथा शहडोल, नर्मदापुरम एवं उज्जैन संभागों के जिलों में कही कही वर्षा दर्ज की गई। सबसे ज्यादा बारिश बडामलहरा 20 सेंटीमीटर, कोलारस 16, ओरछा 15, चंदेरी 14, बडागाँव धंसान, लिधोरा 13, बिरसिंहपुर, टीकमगढ 12, बैराड, गोरमी, सिरोंज, मिहोना 9, भितरवार, रौन, मुगॉवली, हनुमा गढ़ाकोटा 8, जतारा, मालथौन, चितरंगी, भानपुरा, ईशागढ, दतिया, गुना 7 सेमी हुई।