BHOPAL EXPRESS अब शान-ए-भोपाल नहीं रही, स्वच्छता का अवार्ड छिना

भोपाल।
रानी कमलावती स्टेशन से चलने वाली भोपाल एक्सप्रेस को शान-ए-भोपाल यानी कि भोपाल की शान कहा जाता है परंतु भोपाल की यह शान कम हो गई है। पिछले साल इस को मिला सबसे क्लीन ट्रेन का अवार्ड इस साल छिन गया है। संतोष की बात यह है कि अवार्ड इस बार भी रानी कमलापति स्टेशन के खाते में आया है। 

सबसे अच्छी और साफ-सुथरी ट्रेन होने का खिताब अब रानी कमलापति-संतरागाछी एक्सप्रेस के नाम हो गया है। रानी कमलापति-संतरागाछी एक्सप्रेस भोपाल रेल मंडल की ट्रेन है, जो रानी कमलापति से संतरागाछी स्टेशन के बीच चलती है। इसमें आधुनिक सुविधा वाले लिंक हाफमैन बुश (एलएचबी) कोच लगे हैं।

बता दें कि भोपाल रेल मंडल के स्टेशनों से 14 ट्रेनें शुरू होती हैं। इनमें यह ट्रेन भी शामिल है। जिसका रखरखाव व साफ-सफाई रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के यार्ड में होता है, जो रेलवे के मापदंडों के आधार पर अन्य ट्रेनों की तुलना में अच्छा पाया गया है। 

इस ट्रेन के बेहतर रैक अनुरक्षण के लिए तीन जून को जबलपुर रेल मुख्यालय में डीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय को रेलवे जीएम सुधीर कुमार गुप्ता द्वारा शील्ड प्रदान की जाएगी। वहीं मंडल के 36 रेलककर्मियों को सामूहिक पुरस्कार, पांच अधिकारी व 13 रेलकर्मियों को व्यक्तिगत पुरस्कार दिए जाएंगे। 

रेलवे के सुरक्षा, संरक्षा, संकेत एवं दूर संचार, स्क्रैप मैनेजमेंट, जनसंपर्क व बेस्ट रैक (कोचों का समूह) अनुरक्षण के लिए (22172/22171 रानी कमलापति-संतरागाछी-रानी कमलापति एक्सप्रेस को स्वतंत्र दक्षता शील्ड प्रदान की जाएगी। इनमें से जनसंपर्क विभाग को पहली बार अच्छा काम करने के लिए यह शील्ड प्रदान की जाएगी। भोपाल रेल मंडल को मंडलीय टिकट चेकिंग, ऊर्जा संरक्षण व रेल मदद के लिए चार दक्षता शील्ड कोटा रेल मंडल के साथ संयुक्त रुप से दी जाएगी।

कोटा और जबलपुर की तुलना में भोपाल रेल मंडल सबसे अच्छा

पश्चिम मध्य रेलवे भोपाल, कोटा व जबलपुर मंडलों में किए जाने वाले कामकाज का लेखा-जोखा तैयार कर अलग-अलग मापदंडों के आधार पर समीक्षा करता है। वर्ष 2021-22 में किए गए कामकाज की समीक्षा हो गई है। जिसमें भोपाल मंडल ने बेहतर प्रदर्शन किया है। मंडल के उत्कृष्ट प्रदर्शन को लेकर जबलपुर में 67वां रेल सप्ताह समारोह आयोजित किया जा रहा है। यह तीन जून को होगा। इसमें तीनों मंडल के डीआरएम, रेल अधिकारी व रेलकर्मी हिस्सा लेंगे।

इन अधिकारियों को मिलेगा पुरस्कार
वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक एकता अरोरा, मंडल परिचालन प्रबंधक शशांक गुप्ता, सहायक वाणिज्य प्रबंधक धर्मेंद्र सिंह, सहायक मंडल संरक्षा अधिकारी मानस रंजन परिडा, सहायक मंडल विद्युत इंजीनियर (टीआरओ) ममलेश यादव।

ये रेलकर्मी भी होंगे पुरस्‍कृत
महेंद्र कुमार व्यास, रितु दुबे, विशाल त्रिपाठी, भारतेंदु शर्मा, प्रेमदास बढ़ई, रवींद्र शुक्ला, पुरुषोत्तम पाटीदार, जुनैद खान, अरुण शर्मा, मुकेश कुमार गुप्ता, भोला प्रसाद, सुरेश चंद्र विश्वकर्मा, मकसूद हसन सिद्दीकी।