असली होली खेलनी है तो इंदौर आइए, ऐसे रंग चढ़ेंगे, हमेशा याद रहेंगे- INDORE RANGPANCHMI NEWS

इंदौर।
यदि भगवान श्री कृष्ण के किसी प्राचीन मंदिर से जुड़ा होता तो यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा रंग पंचमी उत्सव होता। यदि आप ठीक से होली नहीं खेल पाए हैं। यदि आप होली के असली रंग देखना चाहते हैं। यदि आप वह एक्सपीरियंस करना चाहते हैं, जिसके बारे में होली के करोड़ों दीवाने सपने देखते हैं तो रंग पंचमी के दिन इंदौर आइए। ऐसे रंग चढ़ेंगे, हमेशा याद रहेंगे। 

मंगलवार 22 मार्च का दिन इंदौर में ऐतिहासिक होगा

रंग पंचमी पर दो साल बाद एकबार फिर मंगलवार को दुगने उल्लास से गेर निकलेगी। इसमें हजारों किलो रंग-गुलाल उड़ाया जाएगा। ढोल-ताशे पर थिरकते हुए मतवालों की टोली निकलेगी। मिसाइलों से रंगों की बौछार होगी। आसमान में रंगों से तिरंगा बनेगा और लट्ठमार होली भी नजर आएंगी। इस रंग से सराबोर उत्सव को देखने सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं बल्कि देश विदेश के लोग राजवाड़ा पर जुटेंगे।

संगम कार्नर : 8 हजार किलो टेसू के फूलों से तैयार की गुलाल

संगम कार्नर चल समारोह समिति की गेर संगम कार्नर से निकलेगी। रंगों की बौछार कर तिरंगा बनाया जाएगा। बरसाना की लट्ठमार होली भी नजर आएगी।इसके लिए 8 हजार किलो टेसू के फूलों से गुलाल तैयार की है। इसमें 2500 किलो सतरंगी फूल मिलाए जाएंगे।

समिति के अध्यक्ष कमलेश खंडेलवाल व संयोजक गोविंद गोयल सद्भावना गेर का यह 68 वा वर्ष है। इस बार गेर का प्रमुख आकर्षण बरसाना की टीम लट्ठ मार होली खेलती चलेगी।इसके अलावा बांके बिहारी का ढोल आकर्षण का केंद्र रहेगा हिंदू,मुस्लिम सिख ईसाई युवाओ की टोली देशभक्ति के तरानों पर भांगड़ा करती चलेगी। अतिथियों का स्वागत पारंपरिक मालवा की पगड़ी पहनाकर किया जाएगा।

रसिया कार्नर : रंग-तरंग में थिरकेगा युवाओं की टोली

रसिया कार्नर नवयुवक मित्र मंडल की गेर ओल्ड राजमोहल्ला से सुबह 11 बजे निकलेगी। इसमें ट्राले, टैक्टर, रनगाड़ों की कतार होगी। इस पर डीजे पर थिरकते हुए युवा रहेंगे। इस दौरान पोहा और ठंडाई का वितरण किया जाएगा।गेर कैलाश मार्ग, इतवारिया बाजार, सीतला माता बाजार, गोराकुंड चौराहा होते हुए राजवाड़ा पहुंचेगी।संयोजक राजपाल जोशी के अनुसार इसमें सात हजार लोग शामिल होंगे। तीन मिसाइल से रंग की बारीश की जाएगी।

मारल क्लब : तीन गाडियां पर छह मिसाइलें

मारल क्लब की गेर छीपा बाखल से निकाली जाएगी। इसबार तीन गाड़‍ियों में तीन की बजाए 6 मिसाइलों से रंग बरसाई जाएगी।साथ ही पचास ढोल वाले भी होंगे।35 हजार लीटर वाले टैंकर से पानी की वर्षा की जाएगी।आयोजक अभिमन्यु मिश्रा के अनुसार युवक डीजे पर थिरकते हुए चलेंगे। आयोजन का यह 49वां वर्ष है। इंदौर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया indore news पर क्लिक करें.