सफलता के लिए मेंटल वेलनेस पाने का सबसे आसान तरीका- mental wellness tips

शक्ति रावत।
आमतौर पर मेडीटेशन या ध्यान को बहुत कठिन और खास लोगों द्वारा किया जाने वाला काम माना जाता है। बहुत कुछ हद तक ठीक भी है, लेकिन सच्चाई यह है कि मेंटल वेलनेस के लिए मेडीटेशन या ध्यान सबसे आसान लेकिन सबसे मजबूत रास्ता है। 

कोरोनाकाल में भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए मेंटल वेलनेस बहुत बड़ी चुनौती बनकर उभरी है। अमेरिका में यह हाल है, कि लोग मनोचिकित्सकों से मिलने के लिए तीन-तीन महीने की वेटिंग पर हैं, तो जापान और कोरिया के साथ ही यूरोपीय देशों में अवसाद और तनाव की समस्याएं बढ़ रहीं है। ऐसे में अब पूरी दुनिया का ध्यान मेडीटेशन की तरफ गया है, जिसकी बात सदियों से हमारी संस्कृति करती रही है। आम लोगों के लिए ध्यान थोड़ा मुश्किल जरूर है, लेकिन असंभव नहीं। इसलिये आज बात मेडीटेशन की जिसकी इस समय सभी को सबसे ज्यादा जरूरत है।

1- मेडिटेशन क्या होता है

ज्यादातर लोगों को लगता है, कि मेडीटेशन या ध्यान का मतलब कोई बहुत कठिन प्रक्रिया है, जबकि वास्तव में यहां ध्यान का मतलब उसी ध्यान से हैं, जिसका उपयोग हम आम बोलचाल की भाषा में करते हैं, फिर जब यह साधना से गहरा होता जाता है, तब आध्यात्मिक स्तर तक पहुंचता है। लेकिन आमतौर पर आपका काम थोड़ अभ्यास से चल सकता है। मेडीटेशन का सरल अर्थ है शांति से बैठकर अपनी सांस को और अपने विचारों को आते जाते देखना। शुरू में एकदम नहीं होगा। जैसे रात होने पर धीरे-धीरे शांति होती है, ऐसे ही मेडीटेशन में भी धीरे-धीरे आप अंदर उतरेंगें। 

2- मेडीटेशन कब और कैसे करें 

जानकारों के मुताबिक मेडीटेशन के लिए सुबह का समय सबसे अच्छा माना गया है, क्योंकि उस समय सबकुछ शांत होता है, वातावरण में ऑक्सीजन बहुत पर्याप्त मात्रा में होती है, बंद की अपेक्षा खुली जगह में मेडीटेशन करना ज्यादा अच्छा है। पालथी मारकर आराम से बैठें, रीढ़ की हड्डी सीधी रखें और गहरी सांस लेना शुरू करें। अपने अंदर से जितनी कार्बनडाइऑक्साइड बाहर निकाल सकें धीरे-धीरे बाहर निकाल दें। फिर अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें। उसे आते-जाते महसूस करें। मन भटकेगा उसे फिर सांस पर लेकर आएं। शुरूआत 2 मिनिट से करें, फिर टाइम बढ़ाएं।

3- मेडिटेशन से क्या फायदा होगा

पूरी दुनिया में ध्यान करने की कोई 112 विधियां हैं, और हमारे लिए गर्व की बात है, कि विज्ञान ने भी मेडीटेशन की ताकत का लोहा माना है। मेडीटेशन करने वाले को एक साथ कई शारीरिक और मानसिक लाभ मिलते हैं। सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि मेडीटेशन करने वाला इंसान कभी मानसिक रोगों, तनाव, अवसाद या एंजायटी का शिकार नहीं होता, तो कीजिये शुरूआत। - लेखक मोटीवेशनल और लाइफ मैनेजमेंट स्पीकर हैं। स्वास्थ्य से संबंधित समाचार एवं जानकारियों के लिए कृपया Health Update पर क्लिक करें