सर्दियों में लो ब्लड प्रेशर, एनीमिया और हिमोग्लोबिन का घरेलू इलाज- home remedies

भारत में विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाव एवं इलाज के लिए मौसम के अनुसार कई विकल्प उपलब्ध होते हैं। ठंड के मौसम में लो ब्लड प्रेशर, वेट लॉस करने, हीमोग्लोबिन की कमी दूर करने, एनीमिया का इलाज, कब्ज और पेट की बीमारियों का उपचार एवं बवासीर जैसी दर्दनाक बीमारी से मुक्ति के लिए सबसे सस्ता घरेलू उपचार, लगभग हर सड़क के कॉर्नर पर मिल जाता है। 

मूली के पत्तों में कौन से तत्व होते हैं

मात्र ₹10 की मूली और उसके पत्ते आपको कई बीमारियों से बचाते हैं। ज्यादातर लोग मूली के पत्तों को डस्टबिन में डाल देते हैं लेकिन उन्हें शायद पता नहीं होता कि मूली के पत्तो में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, क्लोरीन, सोडियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन सी, बी, ए और क्लोरीन की मात्रा होती है। इन पत्तों को खाने से कई हेल्थ प्रॉब्लम से बचा जा सकता हैं। 

कब्ज और पेट फूलने की समस्या का घरेलू उपचार

मूली के पत्तों में फाइबर होता है। जिसके सेवन से पाचन संबंधी बीमारियां दूर होती है। वहीं जिन लोगों को कब्ज और पेट फूलने की समस्या है। उन्हें इसका सेवन करना चाहिए। आप चाहे तो रोज सुबह मूली के पत्तों का रस बनाकर पी सकते हैं।

सर्दी के सीजन में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएं

मूली के पत्तों में आयरन और फॉस्फोरस की मात्रा अधिक होती है। जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसमें विटामिन सी, विटामिन ए, थायमिन जैसे खनिज भी होते हैं, जो थकान से निपटने में मदद करते हैं। जिन लोगों को एनीमिया और हीमोग्लोबिन की परेशानी है। उन मरीजो को मूली के पत्तों का सेवन करने से फायदा हो सकता है।

ठंड के दिनों में बवासीर का देसी इलाज

मूली के पत्ते बवासीर जैसी दर्दनाक बीमारी के इलाज में मदद करता है। मूली के पत्ते सूजन को कम करने में मदद करते हैं। मूली के सूखे पत्तों को पीसकर बराबर मात्रा में शक्कर और थोड़ा-सा पानी मिलाकर पेस्ट बना सकते हैं। इस पोस्ट का सेवन करें या सूजन के स्थान पर लगाएं।

विंटर सीजन में लो ब्लड प्रेशर और वजन कम करने के लिए क्या करें

अगर आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो मूली के पत्तों का सेवन फायदेमंद रहेगा। मूली के पत्तों में मौजूद सोडियम शरीर को फायदा पहुंचाता है। इससे बॉडी में नमक की कमी खत्म होती है। वहीं जिन लोगों को अपना वजन कम करना है। उन्हें रोजाना सुबह मूली के पत्तों के रस का सेवन करना चाहिए।  स्वास्थ्य से संबंधित समाचार एवं जानकारियों के लिए कृपया Health Update पर क्लिक करें