जीव द्रव्य क्या है, क्या इसके बिना जीवित रह सकते हैं - science general knowledge in hindi

What is Protoplasm, Can we live without It 

यह तो हम सब जानते हैं हमें जीवित रहने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है लेकिन क्या कभी सोचा है कि केवल ऑक्सीजन से काम नहीं चलता। ऑक्सीजन तो मुर्दे को भी मिलती है लेकिन वह जीवित नहीं होता। जीवित रहने के लिए जीवद्रव्य भी जरूरी है। वृद्धावस्था में जीव द्रव्य की मात्रा कम होने लगती है यही कारण है कि शरीर में पूरी कोशिकाएं होने के बावजूद वह काम नहीं कर पातीं।

शरीर में कोशिकाओं का क्या महत्व है

विज्ञान के सभी विद्यार्थी जानते हैं कि जीवधारियों का शरीर, कोशिका (Cell) का बना होता है। इन कोशिकाओं की संख्या एक (Unicellular / एककोशिकीय जीव जैसे -अमीबा) से लेकर अनेक (Multicellular / बहुकोशिकीय जीव जैसे- मनुष्य) तक होती है। यदि कोशिकाएं नहीं होंगी तो शरीर का अस्तित्व ही नहीं होगा। 

हमारे शरीर में जैविक क्रिया कहाँ होती हैं- Where do vital activities take place in our body

कोशिका ही वह स्थान है जहां सभी प्रकार की जैविक क्रियाएं (Vital Activities)  जैसे- श्वसन (Respiration), पाचन (Digestion), उत्सर्जन (Excretion) आदि होती हैं। इन कोशिकाओं को अपना कार्य करने के लिए कुछ विशेष कोशिकागों या कोशिकाअंगकों (Cell Organelles) की जरूरत होती है। जैसे- कोशिका झिल्ली, कोशिका द्रव्य, केंद्रक, माइटोकॉन्ड्रिया, राइबोसोम, लाइसोसोम, गोल्जीबॉडी आदि। यह कोशिका अंगक एक द्रव माध्यम में ही अपना कार्य करते हैं। जिसे जीवाद्रव्य कहते हैं। 

जीव द्रव्य क्या है, यह किससे मिलकर बना होता है- What is Protoplasm and How it forms 

किसी भी कोशिका को घेरे हुए जो बाहरी आवरण होता है उसे कोशिका झिल्ली या कोशिका कला (Cell membrane or Plasma membrane) कहते हैं
जबकि पादप कोशिका में इसके बाहर एक और आवरण पाया जाता है, जिसे कोशिका भित्ति (Cell wall) कहते हैं जिसकी चर्चा हम फिर कभी करेंगे। 

कोशिका झिल्ली, एक कवर की तरह सभी कोशिकांगों और उसके अंदर मौजूद द्रव्य जो कि अर्धतरल या जेली सामान होता है। कोशिका के अंदर उपस्थित इस द्रव्य को कोशिका द्रव्य (Cytoplasm) कहते हैं। चूँकि इसी कोशिका के अंदर केंद्रक (Nucleus Or kariyon) उपस्थित होता है, जो कि कोशिका की सभी क्रियाओं पर नियंत्रण रखता है। इस केंद्रक की बाहरी झिल्ली को केंद्रक झिल्ली या (Nuclear Membrane) कहते हैं और इसके अंदर जो द्रव भरा होता है उसे केंद्रक द्रव्य (Nucleoplasm) कहते हैं। 

इन्हीं दोनों द्रव्यों कोशिकाद्रव्य और केंद्रकद्रव्य को मिलाकर जीवद्रव्य कहा जाता है। Huxley ने इसे "जीवन का भौतिक आधार (physical basis of life)" कहा   जो कि किसी भी कोशिका के सही ढंग से काम करने के लिए अति आवश्यक है। इसे हम गणित के फार्मूले में भी बाँध सकते हैं:- Protoplasm = Cytoplasm + Nucleoplasm या P=C+N


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here