KHATWANI Suzuki पर छापा, धोखाधड़ी की FIR दर्ज

जबलपुर
। शहर के प्रतिष्ठित ऑटोमोबाइल कारोबारी रोहित खटवानी की एजेंसी खटवानी सुजुकी, शारदा चौक पर मध्य प्रदेश आर्थिक अपराध अन्वेषण प्रकोष्ठ (EOW) ने गुरुवार 11 नवंबर 2021 को छापामार कार्रवाई की एवं कुछ दस्तावेज जप्त किए। EOW की टीम ने बताया कि धोखाधड़ी की FIR दर्ज की गई है। इसी मामले में कार्रवाई की जा रही है।

खटवानी सेल्स एंड सर्विस से नई बाइक खरीदी थी

ईओडब्ल्यू डीएसपी मनजीत सिंह के मुताबिक नेपियर टाउन निवासी सतीश नायडू ने इस मामले में एक साल पहले शिकायत की थी। उसके भाई किशोर नायडू ने 23 अक्टूबर 2019 को शारदा चौक स्थित खटवानी सेल्स एंड सर्विस से नई बाइक खरीदी थी। बाइक खरीदने के समय एजेंसी ने इनवाइस और बीमा दिया था। वाहन का रजिट्रेशन और बीमा का दायित्व एजेंसी ही कराती है। इसका पैसा भी लिया था। 

30 अक्टूबर को मौत के बाद एजेंसी की खुली पोल

30 अक्टूबर को तिलवारा क्षेत्र में नई बाइक से जा रहे किशोर नायडू की मौत हो गई थी। परिवार के लोगों ने बीमा के लिए क्लेम किया। बीमा कंपनी से क्लेम ये कहते हुए निरस्त कर दिया गया कि वाहन का इनवाइस और बीमा तो 04 नवंबर 2019 को जारी हुआ है। उसी के आधार पर वाहन का रजिस्ट्रेशन दर्शाया गया। हैरान परेशान परिवार ने मामले में सूचना के अधिकार के तहत आरटीओ से इसकी जानकारी मांगी। बाइक खरीदने के समय बीमा और इनवाइस उनके पास पहले से ही था। दोनों दस्तावेज लेकर उनकी ओर से ईओडब्ल्यू में शिकायत की गई थी।

MP EOW ने दर्ज किया धोखाधड़ी का मामला

ईओडब्ल्यू एसपी देवेंद्र सिंह राजपूत के मुताबिक शिकायत के आधार पर जांच जारी था। 28 अक्टूबर को इस मामले में प्रोपराईटार खटवानी सेल्स एंड सर्विस 1655 राइट टाउन के खिलाफ धोखाधड़ी, कूट रचना कर एक ही बाइक की दो-दो इनवाइस, दो बीमा तैयार करने का प्रकरण दर्ज किया था। एसपी राजपूत के निर्देश पर दोपहर बाद डीएसपी मनजीत सिंह, निरीक्षक एसएस धामी सहित 20 लाेगों की टीम ने खटवानी एजेंसी पर दबिश दी। टीम ने कम्प्यूटर हार्ड डिस्क सहित कई अहम दस्तावेज जब्त किए हैं। आरटीओ का काम कराने वाले एजेंट के भी बयान दर्ज किए गए हैं। 

RTO JABALPUR को FIR दिखाई तो गायब फाइल निकल आई

सूत्रों की मानें तो इस खेल में आरटीओ विभाग की भूमिका भी सामने आई है। इस फर्जीवाड़े की जांच के दौरान ईओडब्ल्यू द्वारा आरटीओ से बाइक से संबंधी फाइल मांगी गई तो वहां से जवाब में बताया गया कि फाइल गुम हाे गई है। जब ईओडब्ल्यू ने प्रकरण में एफआईआर करने की बात कही तो अगले ही दिन गुम फाइल मिल गई। जबलपुर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया JABALPUR NEWS पर क्लिक करें. 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here