BHOPAL कोरोना जांच घोटाला: स्वास्थ्य मंत्री को पता ही नहीं, चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने स्पष्टीकरण जारी किया

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोनावायरस संक्रमण की जांच के नाम पर घोटाले के आरोप के संदर्भ में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने स्पष्टीकरण जारी किया है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि कबाड़ में जो RTPCR स्टिक और 350 लोगों की लिस्ट मिली है, वह कहां से आई। 

गड़बड़ी होगी तो कार्रवाई की जाएगी

चिकित्सा शिक्षा व भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि हमारी सरकार भ्रष्टाचार के मामले में पूरी तरह से जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही है। जनता को सरकार की हर योजना का लाभ मिले और कहीं भी किसी तरह की गड़बड़ी होगी तो कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना टेस्टिंग में किसी तरह की कमी नहीं हुई है

श्री सारंग ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर कहा की टेस्टिंग में किसी तरह की कमी नहीं हुई है, रोज 70 हजार टेस्ट हो रहे है। कांटेक्ट ट्रेसिंग 30 लोगों की हो रही है। संक्रमण को फैलने से रोक रहे है। जो मामले आ रहे हैं हम उचित इलाज दे रहे हैं। सरकार की ओर से जनता से यही निवेदन है कि कोरोना गाइड का पालन करें। मास्क लगाएं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

मीडिया ट्रायल में घोटाला प्रमाणित हुआ 

इस मामले के ट्रायल में घोटाला प्रमाणित हो गया है। करीब 80 RTPCR जांच वाली स्टिक बिना उपयोग की पाई गई, जो एक्सपायर भी नहीं हुई थी। यानी उपयोग किया जाना था परंतु नहीं किया गया और कचरे में फेंक दिया गया। पत्रकारों ने उन 350 लोगों से बात करने की कोशिश की जिनके नाम लावारिस लिस्ट में मिले थे। इनमें से कई लोगों ने बताया कि उनके सैंपल ही कलेक्ट नहीं किए गए। SMS जरूर आ गया था। 

स्वास्थ्य विभाग वालों ने केवल नाम नंबर पूछा था

मैं आठ अगस्त को मैजिक से जा रहा था। रास्ते में अयोध्या बायपास पर मैजिक रोककर स्वास्थ्य विभाग के कुछ लोगों ने नाम और नंबर पूछा था। यह लोग भी मैजिक वाहन पर थे। मेरे वाहन में बैठे कई लोगों से उन्होंने नंबर पूछा था। दो दिन पहले एसएमएस आया कि आपकी रिपोर्ट निगेटिव है।
- रविकांत, कोविड एसआएफ आइडी- 2339600905130

हमारे सैंपल ही नहीं लिए, नेगेटिव रिपोर्ट भेज दी

मैं अपने भांजे के साथ कहीं जा रहा था। 13 अगस्त को अयोध्या बायपास पर मैजिक वाहन पर बैठे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने मेरा सैंपल मुंह से लिया था। मेरे भांजे सौरभ का नाम भी पूछा था। बाद में मेरे अलावा सौरभ के पास भी निगेटिव होने का मैसेज आया। सौरभ की एसआरएफआइडी 2339600923906 है।
- कृष्ण कुमार, एसआरएफ आइडी-2339600923902

स्वास्थ्य मंत्री को कुछ पता ही नहीं 

इस घटनाक्रम में सबसे बड़ी ब्रेकिंग न्यूज़ यह है कि 2 दिन से भोपाल में हंगामा मचा हुआ है और डॉ. प्रभुराम चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री, मप्र शासन को कुछ पता ही नहीं है। उनका बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि 'मेरी जानकारी में यह मामला नहीं है। हालांकि, कोई भी व्यक्ति ऐसा क्यों करेगा। फिर भी ऐसा है तो यह गंभीर बात है। इसकी जांच कराई जाएगी। दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।'

19 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP OUTSOURCE EMPLOYEE NEWS- अनुभवी आउटसोर्स कर्मचारी को हटाकर नई अस्थाई भर्ती नहीं कर सकते: हाई कोर्ट 
MP Sports Talent Search 2021- ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म एवं पूरी जानकारी
मध्य प्रदेश में सोयबीन के अमानक बीज उत्पादन हो रहा है, कृपया रोकिए - Khula Khat
BHOPAL NEWS- राजधानी में बेरोजगारों पर लाठीचार्ज, घसीट कर ले गए और जंगल में छोड़ दिया
MP EMPLOYEE NEWS- आउटसोर्स व्यवसायिक शिक्षकों की सेवा समाप्ति का आदेश हाई कोर्ट ने स्थगित किया
MP NEWS- मध्यप्रदेश में चयनित शिक्षिकाओं ने उठक-बैठक लगाई, दंडवत किया
MP EMPLOYEE NEWS- प्रतिनियुक्त शिक्षकों की कार्यमुक्ति पर रोक लगी, डीपीआई कमिश्नर का आदेश जारी 
JABALPUR NEWS- सरपंच भरत गुप्ता और रोजगार सहायक गिरफ्तार
GWALIOR NEWS- पत्रकार से रिश्वत वसूल रहा बाबू गिरफ्तार
BHOPAL NEWS- मोहर्रम के जुलूस पर प्रतिबंध, गणेशोत्सव पर शर्तें लागू
BHOPAL NEWS- गैर कानूनी गिरफ्तारी मामले में 3 पुलिस आरक्षक जेल भेजे, ASP पेश नहीं हुए

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiमिनरल वाटर एक्सपायर नहीं होता, तो फिर बोतल पर एक्सपायरी डेट क्यों होती है
GK in Hindiभारत का सबसे पहला गांव कौन सा है, जहां मनुष्य, बंदर से इंसान बना
GK in Hindiइमरजेंसी में कार लॉक हो जाए तो जान बचाने के लिए क्या करें
GK in Hindi- चंद्रमा को मामा क्यों कहते हैं, पढ़िए वैज्ञानिक कारण
GK in Hindiकार का साइलेंसर पीछे, ट्रक का साइड में और ट्रैक्टर का सामने क्यों होता है
GK in Hindiअंग्रेजी के अक्षरों में i और j के ऊपर बिंदी क्यों लगाई जाती है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here