Loading...    
   


खुली आंखों से श्रीगणेश बुध ग्रह देखना है तो शाम को छत पर आ जाना - Unique Astronomical Event

यदि आप सौर परिवार के सबसे छोटे सदस्य यानी बुध ग्रह (Mercury) को खुली आंखों से देखना चाहते हैं तो आपके पास सिर्फ आज का दिन है। आज सोमवार 17 मई 2021 को सूर्यास्त के बाद पश्चिम दिशा में दिखाई देगा। यह सबसे छोटे ग्रह है जिसे हम अपनी खाली आंखों से भी देख सकते हैं। इस विशिष्ट खगोलीय घटना को पूर्वी दीर्घीकरण (Estern Elongation) कहा जाता है।

What is Unique Astronomical Event - यूनिक एस्ट्रोनॉमिकल इवेंट क्या है

नेशनल अवार्ड विनर एवं विज्ञान प्रसारक सारिका घाऊ ने बताया कि यह घटना वर्ष में दो बार होती है। आज आप सूर्यास्त होते ही इस सबसे छोटे ग्रह को अपनी आंखों से देख सकेंगे। कई बार भारी प्रदूषण अथवा बादलों के कारण ब्रह्मांड का सबसे छोटा ग्रह है दिखाई नहीं देता परंतु सौर्य मंडल में रुचि रखने वाले हैं हमेशा इसका इंतजार करते हैं। आइए जानते हैं इसका क्या कारण है।

Reason of Eastern and Western Elongation - पूर्वी और पश्चिमी दीर्घीकरण का कारण

बुध ग्रह का परिक्रमण काल मात्र 88 दिन होता है जो कि सभी ग्रहों में सबसे कम है।  यानी कि बुद्ध ग्रह को सूर्य की परिक्रमा करने में मात्र 88 दिन ही लगते हैं। जैसे पृथ्वी को सूर्य की परिक्रमा लगाने में 365.26 दिन लगते हैं। परिक्रमण काल छोटा होने के कारण बुद्ध ग्रह सूर्य की परिक्रमा करता हुआ दो बार एक ही कोण पर आता है और इसका क्षितिज  से उठाव सबसे ज्यादा लगभग 20 डिग्री होता है। 

What is The greatest elongation - ग्रेटेस्ट एलॉन्गेशन किसे कहते हैं 

इस खगोलीय घटना को ही ग्रेटेस्ट एलॉन्गेशन कहते हैं। वर्ष में एक बार ईस्टर्न एलॉन्गेशन होता है जबकि यह बुध ग्रह पश्चिम दिशा में सूर्यास्त के बाद दिखाई देता है। और एक बार वेस्टर्न एलॉन्गेशन होता है जिसमें यह पूर्व दिशा में सुबह सूर्योदय के पहले दिखाई देता है।

 बुध ग्रह से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां / Interesting facts about Mercury planet

• यह सूर्य का सबसे नजदीकी ग्रह है फिर भी सबसे गर्म ग्रह नहीं है।
• सूर्य की परिक्रमा करने में सबसे कम समय मात्र 88 दिन ही लगते हैं।
• सर्वाधिक कक्षीय गति वाला ग्रह है।
• सबसे छोटा और सबसे हल्का ग्रह एवं कोई भी उपग्रह नहीं है।
• इस ग्रह पर चुंबकीय क्षेत्र पाया जाता है।
• इस ग्रह का तापांतर सभी ग्रहों से सबसे ज्यादा (600 डिग्री सेंटिग्रेड तक) होता है।
• यहां दिन का तापमान 427 डिग्री सेंटीग्रेड तक जबकि रातें बर्फीली होती है - 173 डिग्री सेंटीग्रेड।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here