Loading...    
   


KU COLLEGE EXAM: ऑनलाइन या ऑफलाइन, स्टूडेंट जैसे चाहे परीक्षा दे सकते हैं - EDUCATION NEWS

हरियाणा
। कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने एग्जाम स्टैंडिंग कमेटी की सिफारिश के बाद सभी संबंधित कॉलेजों में परीक्षाओं के दोनों ऑप्शन ओपन कर दिए हैं। स्नातक एवं स्नातकोत्तर के लिए सेमेस्टर एग्जाम 1 मार्च से शुरू हो रहे हैं। स्टूडेंट्स ऑनलाइन या ऑफलाइन जैसे चाहे एग्जाम में शामिल हो सकते हैं। 

परीक्षा नियंत्रक डाॅ. हुकम सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक कोर्सिज की संशोधित डेटशीट विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दी है। बाकी कोर्सिज की डेटशीट भी जल्दी जारी कर दी जाएंगी। सभी संबंधित विभागाध्यक्ष, काॅलेजों, संस्थानों के प्राचार्य, निदेशकों को ई-मेल द्वारा सूचना भेज दी है।

परीक्षार्थियों को परीक्षा का विकल्प चुनकर बताना होगा

विश्वविद्यालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार संबंधित महाविद्यालयों, संस्थानों के निदेशक, प्राचार्यों को परीक्षा संबंधी सभी दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं और अब विद्यार्थी ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी माध्यम से अपनी परीक्षा दे सकता है। इसके लिए विभागाध्यक्षों, प्राचार्यों व निदेशकों को परीक्षार्थियों से ऑप्शन लेनी होगी कि वे परीक्षा किस माध्यम से देना चाहते हैं।

ऑफलाइन परीक्षा कराना कॉलेज की जिम्मेदारी

यदि कोई विद्यार्थी ऑफलाइन माध्यम में परीक्षा देना चाहता है तो उस स्थिति को विद्यार्थी को संबधित काॅलेज प्रश्न पत्र व उत्तर-पुस्तिका उपलब्ध करवाएगा। परीक्षा संपन्न करवाने की जिम्मेदारी संबंधित विभाग, काॅलेज व संस्थान के विभागाध्यक्ष, प्राचार्य व निदेशक की होगी। यदि कोई विद्यार्थी कोविड-19 से पीड़ित है या उसके लक्षण मौजूद हैं तो उसे ऑनलाइन माध्यम से ही परीक्षा देनी होगी।

बाहरी तथा विदेशी छात्रों को ईमेल पर पेपर भेजा जाएगा

इसी तरह विदेशों व अन्य राज्यों में रह रहे विद्यार्थियों को भी ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा देनी होगी। परीक्षा प्रश्न पत्र सभी निदेशकों, प्राचार्याें को सुबह सत्र वाले 9.15 बजे व दोपहर सत्र वाले 1.15 बजे ई-मेल के माध्यम से प्रतिदिन भेजे जाएंगे। इन परीक्षाओं में विद्यार्थियों को 75 प्रतिशत अंकों का प्रश्न-पत्र हल करना होगा।

पेपर डाउनलोड करने से लेकर आंसर शीट अपलोड करने तक कितना समय मिलेगा

परीक्षार्थियों को अपने उत्तर ए-फाॅर साइज के पृष्ठों में लिखने होंगे। इसके लिए अधिकतम पृष्ठ सीमा 30 तक निर्धारित है। प्रश्न पत्र डाउनलोड करना, प्रश्नों के उत्तर लिखना और उसकी पीडीएफ बनाकर अपलोड करने के लिए लिए इस बार 3 घंटे 15 मिनट का समय दिया जाएगा।

डाॅ. हुकम सिंह ने बताया कि पूर्व की भांति इस बार भी प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट रिपोर्ट, ट्रेनिंग की परीक्षा विभाग, महाविद्यालय व संस्थान स्तर पर ही ली जाएगी। परीक्षार्थियों को प्रश्न पत्र डाउनलोड करके परीक्षा संबंधी विवरण व रोल नंबर लिखना होगा। मोबाइल नंबर व अन्य कोई सूचना उत्तर-पुस्तिका में नहीं लिखेगा।

मेल या एप से मिलेंगे प्रश्न
परीक्षा नियंत्रक डाॅ. हुकम सिंह ने बताया कि उक्त प्रश्न पत्र को संबंधित विद्यार्थी को उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी संबंधित विभाग, काॅलेज व संस्थान की होगी। वह ई-मेल या अन्य किसी इलेक्ट्रानिक एप के जरिए इस प्रश्न पत्र को सुबह 9.30 बजे व दोपहर 1.30 बजे संबंधित विद्यार्थी को उपलब्ध कराएंगे।

प्रश्न-पत्र हल करने उपरांत विद्यार्थी उत्तर-पुस्तिका की साफ्ट काॅपी पीडीएफ फार्मेट में संबंधित विभाग, काॅलेज या संस्थान में गूगल फार्म के जरिए ही जमा करवाएगा। गूगल फार्म का लिंक संबंधित विभागाध्यक्ष, प्राचार्य व निदेशक के द्वारा विद्यार्थियों को उपलब्ध करवाया जाएगा।

17 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here