Loading...    
   


बोरी में बंद लाश सांख्यिकी अधिकारी के भाई की निकली - BHOPAL NEWS

भोपाल
। नंद विहार कॉलोनी के मीनाक्षी प्लेनेट सिटी के पास बोरी में बंद लाश की पहचान हो गई है। मृतक का नाम उद्धव जोशी बताया गया है। इनके पिता सांख्यिकी विभाग में डिप्टी डायरेक्टर थे। इनके भाई भी सांख्यिकी विभाग में अधिकारी हैं। हत्या गला घोंटकर की गई है। गला काटने के लिए बिजली के तार का उपयोग किया गया। हत्यारे का पता नहीं चल पाया है परंतु मामला व्यक्तिगत रंजिश का प्रतीत होता है। संभावना है कि हत्या कहीं और की गई और लाश को बोरी में बंद करके यहां डंप कर दिया गया।

मीनाक्षी प्लेनेट सिटी के पास पड़ी थी उद्धव जोशी की लाश

बागसेवनिया पुलिस को आउटर में नंद विहार कॉलोनी के मीनाक्षी प्लेनेट सिटी के पास एक लाश पड़े होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव बरामद कर लिया। मृतक की शिनाख्त लिंक रोड नंबर-3 निवासी 32 साल के उद्धव जोशी के रूप में हुई। उद्धव के पिता सांख्यिकी विभाग के डिप्टी डायरेक्टर के पद से रिटायर्ड हुए थे। उनकी मृत्यु हो चुकी है। उद्धव के भाई भी सांख्यिकी विभाग में अधिकारी हैं। उद्धव होशंगाबाद रोड स्थित विद्या नगर एक्सीलेटर प्राइवेट लिमिटेड में एकाउंटेंट की पोस्ट पर थे। 

उद्धव जोशी 2 दिन पहले ऑफिस से लापता हो गए थे

एएसपी जोन-2 राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि उद्धव जोशी दो दिन पहले ऑफिस आया था। दोपहर में वह ऑफिस में बैग रखकर किसी के साथ चले गए। उसके बाद से उसका कुछ पता नहीं था। रविवार को परिजनों ने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। उसके बाद से उसकी तलाश की जा रही थी। आज उसका शव बोरी में मिला है। उसके गले में बिजली का तार लिपटा मिला है। फिलहाल तार से ही उसका गला घोंटकर हत्या किए जाने की आशंका है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम में मौत के कारणों का खुलासा हो जाएगा।

हत्यारा कौन पता नहीं लेकिन मामला व्यक्तिगत रंजिश का

टीआई संजीव चौकसे ने बताया कि आउटर में एक बोरी में शव होने की सूचना मिली थी। बोरी खोलने पर इसमें से उद्धव का शव मिला। इस मामले में अभी तक संदेह किसी परिचित पर ही आ रहा है। उद्धव दो दिन पहले ऑफिस गए थे। बैग रखने के बाद किसी के साथ चले गए थे। उसके बाद से उनका पता नहीं चला। ऐसे में हत्या के पीछे कोई रंजिश हो सकती है। हत्या जिस तरह से की गई उससे इसमें किसी परिचित का हाथ होने की पूरी आशंका है।

07 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here