कोरोना संदिग्धों के घर के बाहर लगा लाल रंग का स्टीकर | INDORE NEWS
       
        Loading...    
   

कोरोना संदिग्धों के घर के बाहर लगा लाल रंग का स्टीकर | INDORE NEWS

इंदौर। कोरोना वायरस संक्रमण के संदिग्ध व्यक्तियों के घर के बाहर लाल रंग का स्टीकर लगा कर सजग रहने के निर्देश दिये गए। मध्यप्रदेश के इंदौर में विदेश से लौटे संदिग्ध कोरोना वायरस व्यक्तियों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। साथ ही निर्देश भी दिया गया है कि होम आइसोलेशन के दौर घूमे या किसी से संपर्क में आए तो तीन माह की जेला या जुर्माना देना होगा।

बीते रविवार को विदेश से लौटे जिन यात्रियों को 14 दिनों तक होम आइसोलेट किया गया है। इंदौर के 36 लोगों के घर के बाहर लाल रंग के स्टीकर लगाए गए। इनमें 'आई केयर फॉर इंदौर', 'डू नॉट विजिट' (मुझे इंदौर की चिंता, कृपया मिलने न आएं) लिखा गया है।निर्देश के अनुसार कोई भी व्यक्ति जो यह जानता है कि वह किसी गंभीर संक्रमण से ग्रस्त है और उसके संपर्क में आने वाला व्यक्ति सार्वजनिक परिवहन का उपयोग नहीं कर सकेगा। उपयोग से पहले उसे वाहन के ड्राइवर-कंडक्टर या वाहन मालिक को सूचना देनी होगी।

शुक्रवार को दुबई से लौटे 112 यात्रियों को 24 घंटे क्वारंटाइन सेंटर में रखने के बाद घर भेज दिया गया। इनमें से 36 लोगों के घर स्टीकर लगाए गए। इनमें चार लोग महू के व दो धरमपुरी (सांवेर) के थे। इन्हें 14 दिनों के होम आइसोलेशन में रहना होगा। इन परिवारों को सामाजिक दूरी बनाने की सलाह स्वास्थ्य विभाग ने दी है। अन्य लोगों के घरों के बाहर भी जिला प्रशासन व नगर निगम के सहयोग से स्टीकर लगाया जा रहा है। इसमें होम आइसोलेशन के दिन सहित अन्य आइसोलेट व्यक्तियों की संख्या दर्शाई जा रही है। होम आइसोलेशन का उल्लंघन करना सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा है। रविवार को कुछ अन्य लोगों के यहां स्टीकर लगाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने नगर निगम को जानकारी दी।