Loading...    
   


व्यापम घोटाला वाले डॉ. पंकज त्रिवेदी की संपत्ति राजसात करने के आदेश | INDORE NEWS

इंदौर। दिनांक 02.03.2020 को जिला अभियोजन अधिकारी मो. अकरम शेख द्वारा बताया गया कि पंकज त्रिवेदी पिता स्‍व. श्री नटवरलाल त्रिवेदी नियंत्रक/संचालक व्‍यापम भोपाल निवासी 257 विनय नगर इंदौर, के पिता मूल रूप से बांसवाडा राजस्‍थान के निवासी थे बाद में प्रभावित व्‍यक्ति के पिता रूपराम नगर इंदौर में निवास करने लगे। 

पंकज त्रिवेदी नियंत्रक/संचालक की शिक्षा इंदौर में हुई  पंकज त्रिवेदी दिनांक 10/11/1985 से 06/05/1985 तक तदर्थ व्‍याख्‍याता वाणिज्‍यक के पद पर उच्‍च शिक्षा विभाग में कार्यरत रहा। दिनांक 04/06/87 को सहायक प्राध्‍यापक वाणिज्‍यक के पद पर नियमित रूप से पदस्‍थ हुआ तथा दिनांक 11/12/06 को प्राध्‍यापक के पद पर पदोन्‍नत हुआ तथा दिनांक 25/05/11 को प्रतिनियुक्ति पर तकनीकी शिक्षा तथा कौशल विभाग म.प्र. में म.प्र. व्‍यावसायिक परीक्षा मंडल भोपाल में नियंत्रक के पद पर पदस्‍थ हुआ और वही पर बाद में संचालक के पद पर भी पदस्‍थ किया गया। 

अभियोजन की कहानी इस प्रकार है कि पंकज त्रिवेदी नियंत्रक/संचालक के विरूद्ध आय से अधिक अनुपातहीन संपत्ति भ्रष्‍टाचार कर एकत्रित करने की सूचना प्राप्‍त हुई थी, जिस पर से विधिवत विशेष पुलिस स्‍थापना लोकायुक्‍त इंदौर द्वारा विधिवत प्रकरण पंजीबद्ध कर माननीय न्‍यायालय से सर्च वारंट प्राप्‍त कर दिनाकं 29/01/2014 को इंदौर एवं भोपाल में प्रभावित व्‍यक्ति डॉ. पकंज के निवास पर तलाशी की कार्यवाही की गई और अपराध धारा 13(1)ई, 13(2) पीसी एक्‍ट 1988 का पंजीबद्ध हुआ और काफी मात्रा में चल-अचल संपत्ति प्राप्‍त हुई। 

प्रभावित व्‍यक्ति पंकज त्रिवेदी एवं पत्‍नी अर्चना त्रिवेदी, पुत्र ईशान त्रिवेदी के नाम की चल-अचल संपत्ति को राजसात करने हेतु म.प्र. विशेष न्‍यायालय 2011 के अंतर्गत आवेदन विशेष न्‍यायाधीश एवं प्राधिकृत अधिकारी इंदौर के न्‍यायालय में 10/03/2017 को आवेदन पेश किया गया। संपत्ति राजसात कराने में शासन का पक्ष विशेष लोक अभियोजक इंदौर महेन्‍द्र कुमार चतुर्वेदी द्वारा पुरजोर तरीके से न्‍यायालय के समक्ष रखा गया। 

उक्‍त आवेदन की सुनवाई कर विशेष न्‍यायाधीश एवं प्राधिकृत अधिकारी क्र.2 इंदौर न्‍यायालय के प्राधिकृत अधिकारी मान. श्रीमान आलोक मिश्रा साहब ने आज दिनांक 02.03.2020 को आदेश पारित किया। जिसमें पंकज त्रिवेदी प्रभावित व्‍यक्तिगण आदि की कुल राशि 58,48,260/- रूपये की चल-अचल संपत्ति अधिहरण योग्‍य पाते हुए, अधिहरित का आदेश पारित किया। यहां यह उल्‍लेखनीय है कि श्री महेन्‍द्र कुमार चतुर्वेदी 13 प्रकरणों में संपत्ति अधिहरित कराने में पूर्व में सफलता प्राप्‍त कर चुके है। यह चौदहवीं सफलता है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here