Bsc की छात्राओं को ट्रक ने कुचला, दोनों की मौत | BALAGHAT MP NEWS
       
        Loading...    
   

Bsc की छात्राओं को ट्रक ने कुचला, दोनों की मौत | BALAGHAT MP NEWS

बालाघाट। जटाशंकर कॉलेज में बीएससी फायनल ईयर में पढ़ रहीं 2 छात्राओं को टक्कर मार दी जिससे दोनों की दर्दनाक मौत हो गईं। दोनों एक्टिवा पर सवार थीं। इस एक्सीडेंट से नाराज लोगों ने ट्रक चालक व उसके सहयोगी को पकड़कर बेरहमी से पीटा व पुलिस के हवाले कर दिया। 

हादसे के बाद घटनास्थल पर पहुंचे एसडीएम चंद्रप्रताप गोहल, तहसीलदार रामबाबु देवांगन, सीएमओ दिनेश बाघमारे और थाना प्रभारी विजयसिंह परस्ते पहुंच गए और आक्रोशित लोगों को शांत कराया। आयुषी (20) पिता राजेश बागड़े और तितिक्षा (21) पिता पीएस कुर्वेती हैं। दोनों छात्राएं जटाशंकर कॉलेज में बीएससी फायनल ईयर में पढ़ रही थीं और आपस में दोनों पक्की सहेली थीं। हर रोज की तरह वह दोपहर में कॉलेज से प्रतिदिन की तरह कॉलेज में क्लास और प्रैक्टिकल करने के बाद एक्टिवा घर लौट रही थीं। तभी बैहर मार्ग पर पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें टक्कर मार दी और रौंदते हुए निकल गया। बताया जाता है कि आयुषी की मां और तितिक्षा के पिता पीएस कुर्वेती केंद्रीय विद्यालय भरवेली में पदस्थ हैं। दोनों छात्राओं का परिवार स्कूल परिसर में रहता है। 

घटनास्थल पर जुटी भीड़ 

दर्दनाक हादसे के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। जुमा की नमाज पढ़कर लौट रहे मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हादसे के बाद एम्बुलेंस बुलवाया और लहुलुहान हालत में छात्राओं को जिला चिकित्सालय भिजवाया। जहां डॉक्टरों ने दोनो को मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद क्षेत्रीय लोगों ने इस मार्ग पर भारी वाहनों की आवाजाही को रोकने की मांग पर धरने पर बैठ गए। साथ ही वन-वे करने की मांग की थी। कुछ दिन पहले भटेरा रेलवे क्रार्सिंग के पास ट्रक की टक्कर से शिक्षिका की मौत हो गई थी। इसके बाद शहर के प्रमुख मार्गो से बड़े वाहनों के आवागमन की व्यवस्था बनाई गई थी। इसमें बैहर रोड मार्ग को वन-वे किया गया था। 

ट्रक चालक के नशे में होने की जांच पुलिस कर रही है 

हादसे में दो छात्राओं की मौत हुई है। ट्रक चालक के शराब के नशे में होने की जांच पुलिस कर रही है। जहां तक सड़क मार्ग पर अतिक्रमण का सवाल है तो राजस्व रिकॉर्ड के अनुसार अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी। अव्यवस्थित ट्रैफिक की समस्या को जल्द दूर किया जाएगा।
चंद्रप्रताप गोहल, एसडीएम, बालाघाट