बजट 2020 में किसानों के लिए घोषणा | BUDGET 2020 ANNOUNCEMENT FOR FARMERS
       
        Loading...    
   

बजट 2020 में किसानों के लिए घोषणा | BUDGET 2020 ANNOUNCEMENT FOR FARMERS

नई दिल्ली। भारत सरकार की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए बजट की घोषणा की। इस बजट में उन्होंने एक बार फिर किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य का जिक्र किया। उन्होंने बताया कि किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य 2022 तक प्राप्त कर लिया जाएगा। इसके अलावा बजट में किसानों के लिए क्या-क्या घोषणा की गई पढ़िए:

  • 11 करोड़ किसान फसल बीमा योजना।
  • खेती, मछली पालन पर जोर, कृषि को प्रतिस्पर्धात्मक बनाया जाएगा उनके लिए उन्नति लाई जाएगी।
  • पानी की कमी से संबंधित कमी देश भर में गंभीर विषय 100 जिले इससे प्रभावित। इनके लिए जरूरी उपाय किए जाएंगे।
  • पीएम कुसुम योजना के तहत 20 लाख किसानों को सोलर पंप दिए जाएंगे।
  • महिलाओं के धन लक्ष्मी योजना शुरू की जाएगी।
  • चलेगी किसानों के लिए रेल, जल्दी खराब होने वाली वस्तुएं जैसे कि दूछ मांस मछली के चलेगी।
  • कृषि विमान सेवा नागर विमानन मंत्रालय राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय रूटों पर शुरू करेगा। 
  • पीएम किसान के सभी पात्र केसीसी स्कीम में लाए जाएंगे।


  • मनरेगा को चारागार के रूप में विकसित किया जाएगा। 
  • 2025 तक दूध प्रसंस्करण 108 मिलियन टन करने का लक्ष्य।
  • 2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ कृषि लोन का लक्ष्य।
  • वर्षा सिंचित क्षेत्रों में एकीकृत कृषि प्रणाली का विस्तार किया जाएगा
  • नाबार्ड की वित्तपोषण स्कीम का फिर से विस्तार किया जाएगा। 
  • मनरेगा को चारागाह के रूप में विकसित किया जाएगा। 
  • 2022-23 तक मत्स्य उत्पादन बढ़ाकर 200 लाख टन करने का प्रस्ताव। 


  • प्रधानमंत्री किसान के सभी पात्र लाभार्थी केसीसी स्कीम में शामिल होंगे।
  • 2025 तक दूध प्रसंस्करण क्षमता दोगुना कर 108 लाख टन करने का लक्ष्य।
  • 2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ कृषि ऋण का लक्ष्य।
  • कृषि एवं संबद्ध क्रियाकलापों सिचाई और ग्रामीण विकास के लिए तीन लाख करोड़ रुपये का आवंटन।
  • इंद्रधनुष मिशन का विस्तार किया गया है।

किसानों के लिए उड़ान सेवा की शुरुआत

किसानों के लिए उड़ान सेवा की भी शुरुआत होगी। वित्त मंत्री के मुताबिक, उड़ान स्कीम से नॉर्थ इस्ट में सुधार आएगा. कृषि उड़ान योजना को शुरू किया जाएगा। इंटरनेशनल, नेशनल रूट पर इस योजना को शुरू किया जाएगा.नए कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएंगे।

पंचायत स्तर पर किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज

देश में मौजूद वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज को नाबार्ड अपने अधिकार में लेगा और नए तरीके से इसे डेवलप किया जाएगा। देश में और भी वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएंगे। इसके लिए PPP मॉडल अपनाया जाएगा। सरकार पंचायत स्तर पर किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज बनाएगी।

महिला किसानों के लिए धन्य लक्ष्मी योजना

महिला किसानों के लिए धन्य लक्ष्मी योजना की शुरुआत। इस योजना के तहत बीज से जुड़ी योजनाओं में महिलाओं को मुख्य रूप से जोड़ा जाएगा। महिला किसानों को बीज की गुणवत्ता और उसके वैज्ञानिक तरीके से खेती करने के बारे में विशेषतौर पर प्रशिक्षित किया जाएगा।