MPPSC 2019: हर 50th उम्मीदवार पास होगा, कटऑफ 70 से नीचे भी हो सकता है
       
        Loading...    
   

MPPSC 2019: हर 50th उम्मीदवार पास होगा, कटऑफ 70 से नीचे भी हो सकता है

इंदौर। राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2019 का पहला चरण रविवार को संपन्न हुआ। 892 केंद्रों पर आयोजित प्रारंभिक परीक्षा में उपस्थिति का औसत करीब 87 प्रतिशत रही। इंदौर में उपस्थिति 88 प्रतिशत दर्ज हुई। उपस्थिति और पदों के अनुपात में दूसरे दौर यानी मुख्य परीक्षा के लिए प्रत्येक 38वें उम्मीदवार का चयन तय माना जा रहा है। 

MPPSC PRE 2019: कितने उम्मीदवारों ने फॉर्म भरा और कितने परीक्षा देने आए

पीएससी-प्री में दो पेपर हुए। पहले प्रश्नपत्र के मुकाबले दूसरे प्रश्नपत्र में उम्मीदवारों की उपस्थिति घट गई। उपस्थिति और प्रश्नपत्र के लिहाज से पहले दौर में प्रतिस्पर्धा कठिन नहीं मानी जा रही। पीएससी के लिए कुल 3 लाख 66 हजार 353 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। 3 लाख 20 हजार से ज्यादा उम्मीदवारों के परीक्षा में शामिल होने की सूचना है। 

हर 50 उम्मीदवार मुख्य परीक्षा के लिए चयनित होगा 

प्रारंभिक परीक्षा से पदों के मुकाबले 15 गुना उम्मीदवार दूसरे दौर यानी मुख्य परीक्षा के लिए चुने जाएंगे। प्रारंभिक परीक्षा में रिक्त पदों की संख्या 389 बताई गई है। इस हिसाब से खुल 5835 उम्मीदवारों का मुख्य परीक्षा के लिए चयन होगा। 

MPPSC 2019: सामान्य वर्ग के लिए कट ऑफ कितना होगा

विशेषज्ञों के मुताबिक रविवार को परीक्षा के प्रश्नपत्र की कठिनाई का स्तर औसत रहा। आसार हैं कि अनारक्षित श्रेणी (ओपन) के लिए कटऑफ 70 से 72 प्रतिशत रहेगा। यानी कंपटीशन बहुत ज्यादा नहीं होगा। पेपर सर्दी के मौसम में हुआ है। कई परीक्षा केंद्रों में खिड़कियां खुली थी और जूते भी नहीं पहने दिए गए। मौसम का असर उत्तर पुस्तिकाओं में नजर आ सकता है। कट ऑफ कम भी हो सकता है।