Loading...    
   


खनिज माफिया ने डिप्टी रेंजर सहित टीम पर जानलेवा हमला किया, डिप्टी रेंजर घायल | MP NEWS

भोपाल। कमलनाथ सरकार प्रचार कर रही है कि उनके शासनकाल में माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है परंतु ग्राउंड जीरो से रिपोर्ट आ रही है कि माफिया के हौसले आज भी उतना ही बुलंद है जितने शिवराज सिंह शासनकाल में थे। ताजा न्यूज़ मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले की करैरा तहसील से आ रही है। यहां खनिज माफिया ने वन विभाग की टीम पर जानलेवा हमला बोल दिया। इस हमले में डिप्टी रेंजर गंभीर रूप से घायल हो गए। 

जानकारी के अनुसार बुधवार-गुरूवार की रात अमोला सब रेंज प्रभारी मोहन स्वरूप गुप्ता को मुखबिर को सूचना प्राप्त हुई की कुछ लोग करमई के जंगल से अवैध पत्थर का उत्खनन और परिवहन कर रहे हैं। इस सूचना पर डिप्टी रेजंर अपने अमले के साथ सूचना पर बताए गए स्थान पर निकले। 

बताया गया हैं कि जब तक यह वनविभाग का अमला जंगल में पहुंचता उससे पहले ही यह अवैध पत्थरो से भरा ट्रेक्टर-ट्रॉली वन अमले का रास्ते में ही मिल गया। अमले को देखते ही खनन माफिया के गुर्गे ने ट्रेक्टर को नावली गांव के अंदर मोड लिया और इसी पूरी घटना की जानकारी ट्रेक्टर के ड्रायवर ने अपने मालिको को मोबाईल पर दी।

जानकारी आ रही हैं कि वन अमला ट्रेक्टर का पीछा करते हुए नावली गांव में पहुंचता उससे पूर्व ही खनन माफियाओ की एक स्कॉर्पियो से वन विभाग की गाड़ी का रास्ता रोककर उडनदस्ते के चालक पर 315 बोर का कटटा तान दिया। और उसमे से सरिया, लठठ और धार-धार हथियारो से लैस होकर लगभग 7 माफिया के गुर्गे उतरे।

इसके बाद सरकारी गाडी में बैठे वन विभाग के कर्मचारियों को बचने का बिना मौका दिए धारदार हथियारों से हमला बोल दिया और वन विभाग के वाहन की भी जमकर तोड़फोड़ की जैसे तैसे वन विभाग के कर्मचारी अपने घायल डिप्टी रेंजर व अन्य कर्मचारियों की जान बचाकर भागे। 

घायल अवस्था में डिप्टी रेंजर अन्य कर्मचारियों को शिवपुरी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया इसके बाद खोड पुलिस चौकी पर घटना की जानकारी देते हुए 5 लोगों पर शासकीय कार्य में बाधा एवं प्राणघातक हमले जैसी गंभीर धाराओं में प्रकरण पंजीबद्ध करने की मांग की हैं।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here