Loading...

जबलपुर में डेढ़ करोड़ का ड्रामा, पहले एक कारोबारी गायब हुआ अब दूसरा लापता | JABALPUR NEWS

जबलपुर। शहर में इन दिनों डेढ़ करोड़ का ड्रामा चल रहा है। गारमेंट का काम करने वाले दो व्यापारियों के बीच विवाद पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया है। पहले एक कारोबारी प्रभात जैन (Businessman Prabhat Jain) गायब हुआ जब वह लौटकर आया तो दूसरा कारोबारी वीरेंद्र जैन (Businessman Virendra Jain) लापता बताया जा रहा है।

पहले प्रभात जैन गायब हुआ और फिर खुद लौट आया

टीआई मधुर पटेरिया के अनुसार प्रवीन जैन गारमेंट्स का कारोबार करता है और गंजीपुरा में रहता है। वीरेंद्र जैन और उसका बेटा सिद्धार्थ जैन भी कारोबारी है और प्रवीण जैन के साथ उनका लेन देन है। कुछ समय पहले दोनों के बीच डेढ़ करोड रुपए को लेकर विवाद हुआ। यह विवाद प्रवीण जैन के भाई प्रभात जैन और वीरेंद्र जैन व सिद्धार्थ जैन के बीच हुआ। विवाद के बाद 22 नवंबर को प्रभात जैन गायब हो गया। प्रवीण ने पुलिस थाने आकर रिपोर्ट लिखाई। पुलिस प्रभात की तलाश कर रही थी कि तभी प्रभात अपने आप आ गया। उसने बताया कि वह शहर में ही था। उसने सिद्धार्थ के पैसे वापस कर दिए हैं लेकिन फिर भी वह से पैसे मांग रहे हैं इसी तनाव के कारण वह चला गया था।

अब वीरेंद्र जैन लापता हो गया

पुलिस ने एक कारोबारी के संभावित अपहरण का मामला सुलझ जाने से राहत की सांस ली लेकिन पुलिस का तनाव कम नहीं हुआ क्योंकि इसके तत्काल बाद वीरेंद्र जैन का बेटा सिद्धार्थ जैन रिपोर्ट लिखाने आ गया। सिद्धार्थ ने बताया कि उसके पिता वीरेंद्र जैन लापता है। वह सुबह 4:00 बजे घर से निकली थी उसके बाद नहीं लौटे।

पुलिस पर लगाया प्रताड़ना का आरोप

कारोबारी सिद्धार्थ जैन ने पुलिस पर प्रताड़ना का आरोप भी लगाया है। सिद्धार्थ का कहना है कि प्रभात के लापता हो जाने के बाद पुलिस ने उसके पिता वीरेंद्र जैन से पूछताछ के बहाने काफी अभद्रता की। उन्हें अपमानित किया गया जिसके कारण पिता तनाव में थे।उनके कमरे से छह पेज का पत्र मिला है। इसमें उन्होंने बेटे सिद्धार्थ और टीआई लार्डगंज को सम्बोधित किया है। पत्र में टीआई लार्डगंज पर गम्भीर आरोप लगाए हैं। लिखा है कि टीआई ने बेटे के सामने ही अपमानित किया। अपशब्द कहा। 59 वर्ष की उम्र हो चली है। हार्ट का ऑपरेशन हो चुका है। अब और बुरे दिन नहीं देख सकता।