Loading...

भोपाल में सोनी टीवी के सीरियल "एक दूजे के वास्‍ते" की शूटिंग शुरू | BHOPAL NEWS

भोपाल। भोपाल के कलाकारों के लिए गुड न्यूज़ है। सोनी टीवी के सीरियल "एक दूजे के वास्‍ते" की शूटिंग आज से भोपाल में शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि यह सीरियल कुल 1 साल चलेगा और इसकी सारी शूटिंग भोपाल में ही होगी। सोनी टीवी प्रोडक्‍शन के सीरियल "एक दूजे के वास्‍ते" की शूटिंग का उद्घाटन भोपाल में मुख्‍य अतिथि श्री सुरेन्‍द्र सिंह बघेल, मंत्री, पर्यटन तथा नमर्दा घाटी विकास, मध्‍य प्रदेश द्वारा किया गया। 

पूरे 262 एपिसोड भोपाल में शूट किए जाएंगे

सोनी टीवी के ग्रुप हेड श्री रितेश मोदी ने सीरियल से संदर्भ में बताया कि कुल 262 एपिसोड्स का यह पूरा सीरियल भोपाल में शूट किया जाएगा। जिसका प्रसारण 130 देशो में होगा। यह पहला मौका है कि जब किसी टीवी सीरियल का पूरा शूट भोपाल में किया जा रहा है साथ ही इस सीरियल के लगभग सभी किरदार भोपाल व आसपास के शहरो से लिए गए है। 

भोपाल में कई फिल्मों की शूटिंग भी हो चुकी है

मध्‍य प्रदेश में बहुत से बडे़ व छोटे प्रोडक्‍शन हाउसेस द्वारा टीवी सीरियल, टेलि‍ फिल्‍म, फीचर फिल्‍म जैसे पैरामाउंट पिक्चर्स का प्रोजेक्‍ट "द बियर", बीबीसी प्रोडक्शन की "सूटेबल बॉय", "व्हाइट टाइगर" आदि प्रोजेक्‍ट प्रदेश में तय किये जा चुके है। इसके साथ साथ कमल हसन की "इंडियन-2", राजश्री प्रोडक्‍शन की "दादी अम्‍मा मान जाएगी", "स्‍त्री", "सुई-धागा", "कलंक", "मणिकर्णिका", "लुका छुप्पि", "पैडमैन", "टॉयलेट एक प्रेम कथा", "मोहनजोदारो", "बाजीराव मस्तानी", "पुनर विवाह", "क़ुबूल है", "साथ निभाना साथिया" वेब सीरीस "शटलकॉक", "रंगबाज", "पंचायत" के साथ ही कई रियालिटी शो व टीवीसी जैसे 200 से अधिक प्रोजेक्‍ट्स मध्‍य प्रदेश की विभिन्‍न स्‍थानों में शूट किये जा चुके है। 

फिल्‍म टूरिज्‍़म के लिए मध्‍य प्रदेश टूरिज्‍़म बोर्ड एक नोडल एजेन्‍सी की तरह कार्यरत है जो कि फिल्‍म निर्माताओं को राज्‍य में फिल्‍म शूटिंग से सम्‍बन्धित समस्‍त स्‍वीकृतिया प्राप्‍त करने में सहायता कराती है साथ ही शूटिंग प्रक्रिया को भी आसान बनाती है और यही कारण है कि मध्‍य प्रदेश को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा "बेस्‍ट फिल्‍म प्रोमोशन फ्रेन्‍डली स्‍टेट" तथा "मोस्‍ट फिल्‍म फ्रन्‍डली स्‍टेट" के एवार्ड के साथ साथ प्रदेश को 10 अन्‍य नेशनल टूरिज्‍़म एवार्ड से सम्‍मानित किया जा चुका है।  

मध्य प्रदेश पर्यटन पिछले कई दशको से पर्यटन के लिए मघ्यप्रदेश में आने वाले पर्यटकों को उच्च स्तरीय सेवाएं व सुविधायें प्रदान करता आ रहा है। मध्यप्रदेश भारत का एक महत्वपूर्ण राज्य है जिसे “भारत का हृदय” भी कहा जाता है। हाल ही में मध्यप्रदेश को बाघों की सर्वाधिक संख्या होने की वजह से “टाइगर स्टेट ऑफ इंडिया” घोषित किया गया है। इस राज्य का इतिहास, भौगोलिक स्थिति, प्राकृतिक सुंदरता, सांस्कृतिक विरासत और यहाँ के लोग इसे भारत के सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थलों में से एक बनाते हैं। बांधवगढ़ नेशनल पार्क में टाइगर देखने से लेकर खजुराहो के मंदिर की मूर्तियों में वास्तविक भारत को खोजा जा सकता हैं। मध्यप्रदेश की स्थलाकृति राज्य की केंद्रीय स्थिति तथा साथ ही साथ समृद्ध प्राकृतिक विविधता इसे संपूर्ण पर्यटन गंतव्य बनाते हैं। उच्च पर्वत श्रेणियों, नदियों और झीलों से युक्त हरे भरे जंगल प्रकृति के विभिन्न तत्वों के बीच एक सुंदर सामंजस्य प्रदान करते हैं। विभिन्न प्रकार के पशु पक्षी और पौधे तथा यहाँ की प्राकृतिक सुंदरता मध्य प्रदेश के पर्यटन की विशेषता है। साथ ही साथ यहॉ का इतिहास, सांस्कृतिक और आदिवासी संस्कृति मध्य प्रदेश के पर्यटन का एक महत्वपूर्ण भाग है।