Loading...

Dr PS THAKUR: कोर्ट ने जेल भेजा था, ठाकुर अस्पताल में गप लड़ा रहा है VIDEO वायरल

सागर। कांग्रेस नेता की हत्या के मामले में कोर्ट ने डॉ. पीएस ठाकुर को गैर-इरादतन हत्या का दोषी पाया और 7 साल के सश्रम कारावास तथा 10 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई। कोर्ट ने डॉ. पीएस ठाकुर को जेल भेजा था परंतु 2 दिन बाद ही डॉ. पीएस ठाकुर ने तबीयत बिगड़ने की शिकायत की और सरकारी अस्पताल में भर्ती हो गया। यहां उसे प्राइवेट वार्ड दिया गया है। एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें डॉ. पीएस ठाकुर एक व्यक्ति से गप्पे लड़ाता नजर आ रहा है। 

डॉ. पीएस ठाकुर को सजा क्यों सुनाई गई

6 साल पहले युवा कांग्रेस नेता अभिषेक दुबे की हत्या मामले में तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश दीपाली शर्मा ने चैतन्य अस्पताल के संचालक और शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. पीएस ठाकुर को गैर-इरादतन हत्या का दोषी माना है। सागर के इस बहुचर्चित मामले में कोर्ट ने डॉ. ठाकुर को 7 साल के सश्रम कारावास तथा 10 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है।

डॉ. पीएस ठाकुर ने बारात में गोली चलाई थी

गोपालगंज निवासी डॉ. पीएस ठाकुर, 13 फरवरी 2013 को तिलकगंज स्थित होटल रामसरोज पैलेस में जिला न्यायालय के कर्मचारी अनीश रावत की बारात में शामिल होने गए थे। रात करीब 11 बजे डॉ. ठाकुर और उनका रिश्तेदार मार्तण्डसिंह ठाकुर हाथ में पिस्टल लेकर एक गाने पर डांस कर रहे थे। इस दौरान कांग्रेस नेता अभिषेक दुबे और डॉ. ठाकुर के बीच डांस करने को लेकर झूमाझटकी हो गई। डॉ. ठाकुर ने पिस्टल से गोली चला दी। गोली अभिषेक दुबे के सीने में लगी और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। विनोद गुरू, श्याम दुबे और राजेश्वर सेन घायल अभिषेक को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने चैकअप के बाद अभिषेक को मृत घोषित कर दिया।