Loading...

ANM के लिए ANMOL APP से उपस्थिति के खिलाफ कर्मचारी संघ

जबलपुर। म.प्र.तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ जबलपुर जिला स्वास्थ्य समिति के आलोक अग्निहोत्री ने जारी विज्ञप्ति मे बताया कि प्रदेश मे कार्यरत महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता एएनएम की सेलेरी आरसीएच पोर्टल से जोड़ने का विरोध करते हुए बताया कि अनमोल टेव के माध्यम से विभिन्न प्रकार की निम्नलिखित सेवाएँ दे रही है-

1 लक्ष्य दम्पत्ति का रजिस्ट्रेशन करना और सेवाएं देना।
2 परिवार नियोजन के स्थाई और अस्थाई साधनों का  पंजीयन ।
3 गर्भवती माताओं की संपूर्ण जांच के साथ संथागत प्रसव के लिए प्रेरित कर सुरक्षित  संस्थागत प्रसव कराना।
4 शिशु के जन्म से लेकर पांच वर्ष सम्पूर्ण टीकाकरण करना एवं टेव में एंटी करना ।
5,श्रमिक प्रसूति योजना के अन्तर्गत आने वाली माता का पंजीयन करना और समस्त जानकारी अनमोल टेव के माध्यम से एंटी करना ।
6, NCD के माध्यम से 30 बर्ष से अधिक की आयु के परिवार को शुगर ,बीपी केंसर एवं अन्य मरीजों को अनमोल के माध्यम से दर्ज करना ।
7,अनमोल टेव के साथ ही ये सारी जानकारी रजिस्टर में भी दर्ज करना । इन सब कार्यों के अलावा कार्य क्षेत्र का भ्रमण करना । शासन के द्वारा समय समय पर चलाएं जा रहे  राष्टीय कार्यक्रमों को भी पूर्ण रूप से सफल बनाती है ।

अतः कार्य की अधिकता एवं कार्यकमों को देखते हुए ANM की सैलरी अनमोल टेव से लिंक न कराई जाए क्योंकि कई बार टेव में कार्य करने में बहुत परेशानी होती है। जैसे- नेटवर्क नहीं मिलना, अपडेट न होना, एंट्री फीड करते समय बारबार एरर आना। 

स्वास्थ्य विभाग में बहुत सारे कर्मचारी विभिन्न प्रकार के साफ्टवेयर में कार्य कर रहे है किन्तु उनके लिए ऎसा कोई नियम नहीं है व एएनएम अपने आपको प्रताड़ित महसूस कर रही है।
संघ के जिला अध्यक्ष अर्वेन्द्र राजपूत,अवधेश तिवारी ,राबर्ट मार्टिन, अटल उपाध्याय, जिया उर रहीम,दूर्गेश पाण्डेय,शहीर मुमताज,सुनील स्टीफन, बजेश मिश्रा परशुराम तिवारी,दिलराज झारिया, मीनूकांत शर्मा  वीरेन्द चंदेल,योगेश कपूर,रमेश कांबले,गणेश शुक्ला,सतीश देशमुख,पंकज जायसवाल आदि सभी ने शीघ्र आदेश को वापस लेने कि मांग माननीय मुख्यमंत्री जी से कि है।