Loading...

VIP कल्चर: अफसरों के टॉयलेट में बायोमीट्रेक मशीनें | BUREAUCRACY

लाहौर। पाकिस्तान में एक तरफ जहां प्रधानमंत्री इमरान खान अपना बंगला छोड़कर एक साधारण से फ्लैट में रह रहे हैं, वहीं सरकार के मंत्री वीआईपी कल्चर खत्म ही नहीं करना चाहते। ऐसा ही एक मामला पाक के उद्योग मंत्रालय से सामने आया है। यहां टॉयलेट के बाहर भी बायोमीट्रेक मशीनें लगाई गई हैं, ताकि सिर्फ अफसर ही वीआईपी टॉयलेट में जा सकें और आम कर्मचारी सार्वजनिक टॉयलेट का इस्तेमाल कर पाएं। 

आम कर्मचारियों के लिए आधारभूत सुविधाएं भी नहीं

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन वीआईपी बाथरूम में सिर्फ एडिशनल सेक्रेटरी और उसके ऊपर के स्तर के अधिकारी ही घुस सकेंगे। कहा जा रहा है कि सरकार ने यह फैसला इसलिए किया ताकि किसी मीटिंग के दौरान अफसरों को टॉयलेट की लाइन में ज्यादा देर न खड़ा होना पड़े। इसी बीच मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि आम स्टाफ के लिए मंत्रालय में हैंडवॉश और टॉयलेट पेपर तक की सुविधा नहीं है। 

पहले भी ट्रोल हो चुकी है इमरान खान सरकार

इससे पहले खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में सरकार के सूचना प्रसारण मंत्री ने फेसबुक पर लाइव प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गलती से कैट फिल्टर ऑन कर दिया था। इसके चलते उनके चेहरे पर बिल्ली का मास्क दिखने लगा था। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के आधिकारिक हैंडल से वीडियो शेयर होने के बाद इसे सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया था। 

प्रेस कॉन्फ्रेंस को लाइव देख रहे यूजर्स ने जैसे ही इसे देखा स्क्रीनशॉट ले लिया और फेसबुक पर शेयर करने लगे। हालांकि, कुछ देर बाद इस फिल्टर को हटा दिया गया। पाक के एक यूजर ने इस घटना पर लिखा था, ‘फिल्टर हटा लो, बंदा बिल्ली बना हुआ है।'