Loading...

ऊर्जा निगम के क्लर्क ने सूदखोरों से तंग आकर सुसाइड किया था, मामला दर्ज | BHOPAL NEWS

भोपाल। ऊर्जा विकास निगम के क्लर्क किशन सिंह राणा की मौत के मामले में पुलिस ने तीन सूदखोरों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है। 26 दिन चली जांच के बाद पुलिस ने ये कार्रवाई की है। इसके लिए पुलिस ने परिजनों के बयान और सुसाइड नोट को आधार बनाया है। फिलहाल पुलिस ने किसी को गिरफ्तार नहीं किया है। 

राजहर्ष कॉलोनी निवासी 56 वर्षीय किशन सिंह राणा ने 12 जून 2019 को खुदकुशी की थी। उनका क्षत विक्षत शव अहमदपुर रेलवे फाटक के पास रेलवे ट्रैक पर मिला था। तलाशी के दौरान पुलिस को जेब से आधार कार्ड व अन्य दस्तावेजों के साथ-साथ सुसाइड नोट भी मिला था। एसडीओपी अनिल त्रिपाठी ने बताया कि इसमें समीर शुक्ला, संजय शर्मा और मीरचंदानी से परेशान होकर जान देने का जिक्र था। 

पुलिस ने इसे आधार बनाकर तीनों के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का केस दर्ज कर लिया है। जांच में सामने आया कि उधार लिए गए डेढ़ लाख रुपए के एवज में किशन चार लाख रुपए तक चुका चुके थे, इसके बाद भी उनसे मांग जारी थी। इसके चलते उन्होंने सुसाइड किया था।