Loading...

कमलनाथ सरकार ने माना मर्जर समस्या शिवराज काल में ही हल: रामेश्वर शर्मा | BHOPAL NEWS

भोपाल। विधायक हुज़ूर एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा द्वारा राजस्व विभाग से मर्जर समस्या से संबंधी सवाल के जवाब में कमल नाथ सरकार के राजस्व मंत्री ने स्पष्ट जवाब देते हुए कहा कि संत हिरदाराम नगर (बैरागढ़) की मर्जर समस्या का हल तत्कालीन शिवराज सरकार के शासन आदेश क्रमांक 6-16/2018/सात/नजूल भोपाल दिनांक 03/04/2018 के अनुसार कर लिया गया है विधायक शर्मा के सवाल के जवाब में राजस्व मंत्री ने मर्जर समाप्ती के बाद लाभार्थी नागरिको की सूची भी उपलब्ध करायी है एवं साथ ही यह स्पष्ट किया है कि मर्जर समस्या के हल की प्रक्रिया निरन्तर जारी है . कांग्रेस सरकार द्वारा विधानसभा में संत हिरदाराम नगर की मर्जर समस्या के निराकरण संबंधी जवाब पर कांग्रेस के तथाकथित स्थानीय कांग्रेस नेताओं की बोलती बंद हो गयी है । ज्ञात हो कि संत नगर के कुछ कांग्रेस नेता मर्जर समस्या के विषय मे जनता को गुमराह करने में जुटे थे । परन्तु अपनी ही सरकार के जवाब से उनके होश उड़ गए है।

संत नगर की मर्जर समस्या का हल मेरी पहली प्राथमिकता थी: रामेश्वर शर्मा 

विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि 2013 में जब उन्होंने हुज़ूर विधानसभा से चुनाव लड़ा था तो संत नगर में वर्षो पुरानी व्याप्त मर्जर समस्या का निराकरण करना उनकी प्राथमिकताओ में शामिल था । उन्होंने कहा कि पूर्व में की गयी गलतियों की वजह से मर्जर समस्या के स्पष्ट और सुलभ निराकरण के लिए अनेक बार बैठकों का दौर चला जिसके फलस्वरूप संत नगर की मर्जर समस्या का स्थायी हल कराने में हम सफल रहे । विधायक शर्मा ने कहा कि मर्जर समस्या का हल तत्कालीन शिवराज सरकार का एक ऐतिहासिक निर्णय था । उन्होंने बताया कि मर्जर समस्या से पीड़ित नागरिको की सलाह पर ऐसे नियम बयाएँ गए जिससे अधिक से अधिक नागरिकों को उनकी संपत्ति का मालिकाना हक आसानी से मिल सके।

मर्जर समस्या हल हो चुकी है गुमराह करने वालो पर हो कार्यवाही: एडवोकेट छावानी

मर्जर समस्या की कानूनी लड़ाई लड़ने वाले वकील जगदीश छावनी ने कहा कि 03/04/2018 को मध्यप्रदेश शासन के आदेशानुसार संत हिरदाराम नगर की मर्जर समस्या का हल पूर्ण रूप से कर किया गया है। उक्त शासन के आदेश एवं नियम की सरलता की वजह से नागरिको को उनकी संपत्ति का मालिकाना हक आसानी से मिल रहा है। श्री छावनी ने बताया कि जो लोग आज भी मर्जर समस्या की बात करते है वह नागरिको को गुमराह कर मर्जर के नाम पर अपनी दुकानदारी चला रहे है। ऐसे लोगो पर कार्यवाही होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मर्जर समस्या के निराकरण के लिए बिचौलियों से सावधान रहें। सीधे राजस्व विभाग से संपर्क कर प्रपत्रों के आधार पर मालिकाना हक, बिल्डिंग परमिशन, नजूल एनओसी, संपत्ति के विरुद्ध लोन, नामांतरण की कार्यवाही संपादित हो रही है। श्री छावनी ने बताया कि साथ ही मर्जर से जुड़ी पट्टे की समस्या का भी निराकरण कर लिया गया है उन्होंने बताया कि पट्टो का नवीनीकरण, कब्जो का नियमतिकरण 03/04/ 2018 को ही जारी किए गए आदेश के अनुरूप किया जा रहा है।

मर्जर समस्या पर कांग्रेस ने लोकसभा- विधानसभा चुनाव में किया जनता को गुमराह 

गौरतलब है कि संत हिरदाराम नगर बैरागढ़ से जुड़ी मर्जर समस्या का हल  03 अप्रैल 2018 को तत्कालीन शिवराज सरकार द्वारा कर लिया गया था फिर भी कांग्रेस ने विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव में अपने घोषणा पत्र में इसे शामिल कर जनता को गुमराह करने का काम किया । यही नही आज भी कांग्रेस के कुछ तथाकथित नेता मर्जर समस्या के हल कराने का दम्भ भरते है जिसका निराकरण हुए 1 साल से अधिक समय हो चुका है ।