Loading...

सिर्फ एक ट्रिक से अदना सा शिक्षक 7 साल में करोड़पति बन गया | INSPIRATIONAL STORY

सात साल पहले पेशे से शिक्षक बायजू रविंद्रन का नाम देश भर में कोई नहीं जानता था लेकिन देश में बच्चों की पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए एक MOBILE APP की शुरुआत करने के बाद से अब वो इसकी मदद से अरबपतियों के क्लब में शामिल हो गए हैं। 

10 अरब के पार मिली फंडिंग

रविंद्रन की कंपनी थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड (THINK AND LEARN PRIVET LIMITED) को 10 अरब रुपये की फंडिंग मिली। इसके बाद रविंद्रन अरबपतियों के क्लब में शामिल हो गए। इससे बायजूस एप (BYJU'S MOBILE APP) को संचालित वाली कंपनी की कुल वैल्यू 3.92 हजार करोड़ रुपये के पार चली गई। रविंद्रन की इस कंपनी में 21 फीसदी की हिस्सेदारी है। 

अमेरिका में होगा लॉन्च

अगले साल तक 37 साल के रविंद्रन अपने एप को वॉल्ट डिजनी के साथ मिलकर के अमेरिका में लॉन्च करेंगे। बायजूस एक स्टार्टअप कंपनी है, जिसे सात साल पहले बंगलूरू में शुरू किया गया था।  भारत में ऑनलाइन शिक्षा देने का बाजार धीरे-धीरे तेजी से बढ़ रहा है। सरकार से मिले सहयोग के कारण अब एक से लेकर के 12वीं तक की शिक्षा लेने के लिए बच्चों को एप से ही सारे विषय पढ़ने को मिल रहे हैं। 

30 अरब के पार कमाई

बायजूस की कमाई मार्च 2020 तक 30 अरब रुपये के पार जा सकती है। फिलहाल कंपनी हालिया संपन्न हुए क्रिकेट विश्व कप में भी सह प्रायोजक था। रविंद्रन का बचपन एक गांव में बीता, जहां उसके माता-पिता भी एक स्कूल में पढ़ाते थे। पेशे से इंजीनियर रविंद्रन अपने दोस्तों को आईआईएम और आईआईटी की परीक्षा पास कराने में मदद किया करते थे। क्लास में भीड़ होने के बाद वो स्टेडियम में पढ़ाया करते थे। 
अपना मोबाइल एप या यूट्यूब चैनल बनवाने के लिए इन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं 916 522 4289 / 942 513 7664