ATITHI SHIKSHAK का अनुभव प्रमाण पत्र बना कमाई का जरिया | MP NEWS

सीधी। सरकारी स्कूलों में शिक्षकों कमी के चलते अतिथि शिक्षकों की सेवाएं ली जा रहीं हैं। स्कूलों में पढ़ाने वाले अतिथि शिक्षकों को पिछले सालों के अनुभव प्रमाण पत्र नहीं मिल पाते थे। संस्था प्रमुख सादे कागज पर ही अनुभव लिखकर दे देते थे लेकिन प्रदेश सरकार अब अनुभव प्रमाण पत्र को पूरी तरह प्रकिया में लेने जा रही है। 

लोक शिक्षण संचालनालय ने 15 मई को आदेश जारी किया है, जिसमें सरकारी स्कूलों में सेवाएं देने वाले अतिथि शिक्षकोंं का अनुभव प्रमाण पत्र अब ऑनलाइन जनरेट कराया जाएगा। स्कूलों में पढ़ाने वाले अतिथि शिक्षकों के लिए यह अनुभव प्रमाण पत्र आने वाली संविदा शाला शिक्षक भर्ती परीक्षाओं में कारगर साबित हो सकते हैं। चुनावों में पार्टियों द्वारा की जा रहीं घोषणाओं के आधार पर अतिथि शिक्षकों को मेरिट सूची में अनुभव प्रमाण पत्र के अतिरिक्त अंकों का लाभ मिल सकता है। लोक शिक्षण आयुक्त ने उक्त कार्रवाई 15 जून  तक पूरी करने को कहा है। इसके लिए स्कूलों में सेवाएं देने वाले अतिथि शिक्षकों को ऑनलाइन आवेदन करना है। 

इसके बाद संस्था प्रमुख, संकुल प्राचार्य और जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय स्तर से प्रक्रिया पूरी जाएगी। जिससे अनुभव प्रमाण पत्र ऑनलाइन जारी हो सकेगा। लेकिन जिले मे संकुल प्राचार्यो द्वारा डीडीओ लागिन आई डी कम्प्यूटर सेंटर मे दे दिया गया है । जहा कम्प्यूटर संचालक मनमर्जी तरीके से अतिथि शिक्षको से पैसे वसूल कर रहे है और इस भीषण गर्मी मे अतिथि शिक्षक स्कूलों से संकुल व संकुलो से कम्प्यूटर सेंटरो का चक्कर लगा रहे है। 

ये है नियम
संस्था प्रमुख, संकुल प्राचार्य और डीईओ के ये दायित्व: संस्था प्रमुख के सत्यापन के बाद आवेदक को सभी क्लेम फार्म को एक फाईल कवर में व्यवस्थित करके संकुल प्राचार्य को प्रस्तुत करना है। संस्था प्रमुख का दायित्व आवेदक से प्राप्त क्लेम फार्म में उपस्थित कार्यदिवस का मिलान उपस्थित पंजी से करना है। सत्यापन के बाद क्लेम फार्म की हस्ताक्षरयुक्त एक कॉपी आवेदक, दूसरी संकुल प्राचार्य व तीसरी अभिलेख के रूप में स्कूल में रखना है। आवेदक की क्लेम फाईल को संकुल प्राचार्य को सुरक्षित रखना है, ताकि भविष्य में जरूरत होने पर पेश की जा सके। साथ ही फाईल की जांच करना होगी कि क्लेम फार्म और सत्यापन ठीक है। संकुल डीडीओ लॉगिन से क्लेम फार्म में संस्था प्रमुख द्वारा सत्यापित उपस्थित दिवसों की ऑनलाइन रूप से जीएफएमएस पाेर्टल पर दर्ज करना है। क्लेम फार्म का सत्यापन जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा गठित समिति के विशेष परीक्षण के बाद मान्य होगा

अतिथि शिक्षकों का आमरण अनशन आज से 
अतिथि शिक्षकों द्वारा अपनी मागों को लेकर आज से आमरण अनशन करने की तैयारी कर ली गई । बताया गया है कि इसमे केवल जिले के ही नही बल्कि प्रदेश के भी अतिथि शिक्षक शामिल होगे। अतिथि शिक्षकों का आमरण अनशन आज सुबह 10 बजे से विथिका भवन कलेक्ट्रेट के सामने होगा।

इनका कहना है
अतिथि शिक्षको के उपस्थित पत्रक को संकुल प्राचार्य के द्वारा डीडीओ लागिन आई डी से अपलोड कराना है लेकिन संकुल की ओर से कम्प्यूटर सेंटरो का नाम बताया जाता है कि वहा जाकर अपना उपस्थित पत्रक अपलोड करवा ले। अतिथि शिक्षक बेरोजगार है और कम्प्यूटर सेंटर वाले मन मर्जी पैसा लेते है उपर से इस भीषण गर्मी मे काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
रविकांत गुप्ता
अध्यक्ष 
अतिथि शिक्षक संघ सीधी