पढ़िए किस कमिश्नर/कलेक्टर को क्यों बदला गया | MP NEWS

भोपाल। सीएम कमलनाथ द्वारा जारी की गई आईएएस अफसरों के तबादला लिस्ट में चुनावी शिकस्त का बदला साफ नजर आ रहा है। मजेदार बात तो यह है कि चुनावी बदला लेने के लिए एक अफसर को हटाया तो उपकृत करने के लिए दूसरे अफसर को नियुक्त किया गया। ​इन तबादलों में योग्यता एवं आवश्यकता जैसे कोई प्रश्न उपस्थित नहीं हैं। 

शोभित जैन कमिश्नर शहडोल को सचिव बनाकर मंत्रालय अटैच कर दिया। इन्हीं की रिपोर्ट पर चुनाव आयोग ने शहडोल कलेक्टर को हटाया था। 
एम के अग्रवाल कमिश्नर चंबल से भोपाल बुलाकर आयुक्त सह पंजीयक सहकारी संस्थाएं तथा प्रबंध संचालक राज्य सहकारी तिलहन उत्पादक संघ का अतिरिक्त प्रभार देकर उपकृत किया गया। 
महेश चंद्र चौधरी कमिश्नर ग्वालियर को सदस्य राजस्व मंडल ग्वालियर बनाकर लूप लाइन में डाल दिया। 
शेखर वर्मा: चुनाव आयोग ने कलेक्टर शहडोल बनाकर भेजा था। कमलनाथ ने वापस बुला लिया। 
छवि भारद्वाज कलेक्टर जबलपुर को चुनावी हार के कारण उपसचिव बनाकर भोपाल बुला लिया। 
भरत यादव: चुनाव आयोग ने कलेक्टर छिंदवाड़ा बनाकर भेजा था। कमलनाथ ने कलेक्टर जबलपुर बनाया। 

मनोज खत्री कलेक्टर पन्ना को चुनावी हार के कारण उपसचिव बनाकर भोपाल बुला लिया। 
धनराजु एस कलेक्टर मंदसौर को चुनावी हार के कारण उपसचिव बनाकर भोपाल बुला लिया। 
विजय कुमार जे कलेक्टर भिंड को चुनावी हार के कारण उपसचिव बनाकर भोपाल बुला लिया। 
श्रीनिवास शर्मा को चुनाव आयोग ने कलेक्टर छिंदवाड़ा के पद से हटाया था, कमलनाथ ने वापस भेज दिया। 
ललित कुमार दाहिमा को चुनाव आयोग ने कलेक्टर शहडोल के पद से हटाया था, कमलनाथ ने वापस भेज दिया। 
छोटे सिंह डिप्टी कमिश्नर जबलपुर को कलेक्टर भिंड बनाकर कमलनाथ ने अपनी गुडबुक में दर्ज कर लिया।
हरि सिंह मीणा सीईओ जिला पंचायत रीवा को उपसचिव बनाकर लूप लाइन में डाल दिया गया है।