Loading...

BJP के मीडिया संपर्क प्रमुख अनिल सौमित्र सस्पेंड | MP NEWS

भोपाल। गांधी और गोडसे विवाद में एक बार फिर भाजपा 2 भागों में बंटती नजर आ रही है। पीएम नरेंद्र मोदी सहित अमित शाह की टीम गांधी के साथ है परंतु कुछ लोग गोडसे का समर्थन कर रहे हैं। इसी के चलते भाजपा में कार्रवाई शुरू हो गई है। अमित शाह ने नाराजगी जताते हुए एमपी बीजेपी के मीडिया संपर्क प्रमुख अनिल सौमित्र को सभी पदों से सस्पेंड कर दिया है। 

भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, अनंतकुमार हेगड़े और एमपी के मीडिया संयोजक नलिन कतील को नोटिस दिया है। इससे पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रज्ञा ठाकुर का बचाव करते हुए कहा था कि उन्होंने खेद प्रकट कर दिया है, विषय समाप्त हो गया परंतु जब अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी की प्रतिक्रियाएं आईं तो राकेश सिंह भी एक्टिव हो गए।

क्यों सस्पेंड किया गया

गांधी और गोडसे विवाद के बीच मध्य प्रदेश बीजेपी के नेता अनिल सौमित्र ने महात्मा गांधी को लेकर विवादित बयान दिया है। अनिल सौमित्र ने अपने फेसबुक पर पोस्ट किया है कि- राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। भारत राष्ट्र में तो उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए। कुछ लायक तो कुछ नालायक। सौमित्र ने कहा कि कांग्रेस ने उनको राष्ट्र का पिता बताया, राष्ट्र का कोई पिता नहीं होता पुत्र होता है। चर्च में होते हैं फादर, कांग्रेस ने उसका हिंदी रूपांतरण पिता कर दिया। सौमित्र ने आगे कहा कि रही बात पाकिस्तान की तो पाकिस्तान का निर्माण गांधी जी के प्रयासों से हुआ। जिन्ना और नेहरू के सपनों को उन्होंने साकार किया। 

भाजपा का एक वर्ग गोडसे के साथ

भाजपा कई बार दोहराती रही है कि वो महात्मा गांधी के साथ है परंतु भाजपा का एक वर्ग अभी भी गोडसे के साथ है। सोशल मीडिया पर प्रज्ञा ठाकुर के समर्थन में बयान भरे पड़े हैं। लोग तर्क प्रस्तुत कर रहे हैं कि किस तरह गोडसे महान देशभक्त थे। लोग तो यहां तक कह रहे हैं कि गांधी की हत्या नहीं वध किया गया था और इसके लिए सजा नहीं मिलनी चाहिए थी।