Loading...

मप्र में 10 हजार शिक्षकों की भर्ती, MPPEB ने MPTET-3 की तैयारियां शुरू कीं | GOVT. JOB NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (Secondary Teachers' Eligibility Test) एवं माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (Secondary Teacher Eligibility Test) के बाद अब प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (Primary Teacher Eligibility Test) जिसे संविदा शिक्षक वर्ग 3 (Contract Teacher Class 3) भर्ती परीक्षा (Recruitment examination) के नाम से भी पुकारा जा रहा है, की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। फिलहाल पूरे प्रदेश में 10 हजार रिक्त पदों की जानकारी मिली है। इन्हीं पदों के लिए यह भर्ती परीक्षा आयोजित (Conducted the exams) की जाएगी। 

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) की आचार संहिता (Code of conduct) खत्म होते ही पीईबी (PEB) आवेदन पत्र आमंत्रित कर चयन प्रक्रिया शुरू कर देगा। हालांकि इस समय प्रदेश भर के प्राइमरी स्कूलों में 19 हजार से अधिक पद खाली हैं। इसके बाद भी ठीक आधे यानी 10 हजार पदों पर के लिए भर्ती परीक्षा कराने की दिशा में कदम उठाए गए हैं। पद भले ही कम निकले हों, लेकिन इस परीक्षा में उच्चतर और माध्यमिक शिक्षक परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थियों से दोगुना अभ्यर्थी शामिल होंगे। 

10 लाख से अधिक आवेदक दे सकते हैं परीक्षा:  


वर्ग-1 में 2 लाख तो वर्ग-2 में 4.50 लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे। वर्ग-3 के लिए 2011-12 में हुई भर्ती परीक्षा में 8 लाख आवेदक बैठे थे। ऐसे में छह साल के लंबे अंतराल के बाद होने वाली प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती परीक्षा में इस बार 10 लाख से अधिक आवेदकों के शामिल होने की उम्मीद की जा रही है। वैसे पदों को लेकर आचार संहिता के कारण स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। परंतु विभाग में चर्चा यही है कि अभी पहले चरण में जुलाई 2019 तक 10 हजार शिक्षकों की भर्ती की जा रही है। या तो बीच में वर्ग-1 और 2 की तरह ही इसमें पद बढ़ा दिए जाएंगे या फिर दूसरे चरण की परीक्षा में यह पद भरे जाएंगे। 

भर्ती के बाद भी SCHOOL'S में शिक्षकों की कमी रहेगी बरकरार : 

प्रदेश में 1 लाख 15 हजार 503 सरकारी स्कूल हैं। इनमें 81 हजार 335 प्राथमिक, 30 हजार 308 माध्यमिक व 3863 हाईस्कूल हैं। इनमें उच्चतर माध्यमिक शिक्षक वर्ग के 30 हजार, माध्यमिक शिक्षक वर्ग के 22 हजार व प्राथमिक शिक्षकों के 19 हजार से अधिक पद रिक्त हैं। बजट व संसाधन की कमी के चलते सरकार एक साथ इतने पद भरने से हिचक रही है। उच्चतर माध्यमिक शिक्षक के 19 हजार, माध्यमिक शिक्षक के 11 हजार 200 और प्राथमिक शिक्षक के 10 हजार पदों पर ही भर्ती कराई जा रही है। ऐसे में साफ है कि भर्ती के बाद भी करीब 30 हजार शिक्षकों के पद खाली रह जाएंगे। 

गौरतलब है कि वर्ग-3 की परीक्षा के लिए स्कूल शिक्षा विभाग और पीईबी के बीच एक साल से पत्राचार चल रहा था लेकिन अब जाकर स्कूल शिक्षा विभाग ने पीईबी को सेवा शर्तें भेजकर भर्ती की तैयारी कराने को कहा है।

यह हैं पद और वेतन 

उच्चतर शिक्षक (वर्ग 1) 
पद- 19000 वेतन 36,000+भत्ता 
उच्चतर माध्यमिक शिक्षक (वर्ग 2) 
पद- 11,200 वेतन 34,000+भत्ता 
प्राथमिक शिक्षक (वर्ग 3) 
पद- 10,000 वेतन 25,000+भत्ता 

स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) से प्राथमिक शिक्षक परीक्षा के सबंध में हाल ही में पत्र प्राप्त हो गया है। रूल बुक मिलते ही हम परीक्षा की तैयारियां शुरू कर देंगे। परीक्षा का आयोजन आचार संहिता के बाद ही किया जाएगा।
एकेएस भदौरिया, परीक्षा नियंत्रक, पीईबी