तीन तलाक के बाद पीएम मोदी से मदरसे बंद कराने की अपील | NATIONAL NEWS

25 January 2019

लखनऊ। अक्सर ही चर्चा में रहने वाले शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जो पत्र भेजा है, उससे सनसनी फैल गई है। पत्र में रिजवी ने सभी प्राथमिक मदरसे बंद करने की मांग की है। उनकी दलील है कि अगर यह सभी प्राथमिक मदरसे बंद नहीं हुए तो भारत में 15 वर्ष में आधे मुस्लिम आइएसआइएस समर्थक हो जाएंगे।

वसीम रिजवी का कहना है कि देश के सभी प्राथमिक मदरसे बंद हों वरना 15 वर्ष में देश के आधे से ज्यादा मुस्लिम हो आइएसआइएस समर्थक हो जाएंगे। रिजवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है जिसमें उन्होंने देश भर के प्राथमिक मदरसे बंद करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यह सब मदरसे मुसलमानों को सामाजिक शिक्षा से दूर कर रहे हैं। देवबंद और वहाबी मदरसे, मुसलमान बच्चों में इस्लाम का गलत प्रचार करके जेहाद के लिए तैयार कर रहे हैं। कट्टरपंथी मानसिकता उनके जेहनों में भरी जा रही है। इन्हीं देवबंद और वहाबी मदरसों से देश में जेहाद की लड़ाई शुरु होगी। हमको अपने बच्चों ने इनसे बचाना होगा।

रिजवी ने कहा कि हमने भारत के प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर कहा है कि हिन्दुस्तान में प्राइमरी मदरसों को बंद किया जाए। अगर कोई बच्चा मदरसे में दीनी पढ़ाई करना चाहता है तो उसे हाईस्कूल के बाद ही प्रवेश दिया जाए। वसीम रिजवी ने कहा कि इससे मुसलमान समाज दूसरे धर्मों के खिलाफ फैलाई जाने वाली नफरतों से अलग हो पाएगा। इसके साथ ही बच्चा खुद फैसला करेगा कि उसे मदरसे में पढऩा है या नहीं। उन्हें बचपन से मदरसे में पढ़ा कर उनकी सामाजिक जिंदगी खराब की जा रही है। वसीम रिजवी ने कहा मदरसों में छात्रों को निशाना बनाते हुए आंतकी संगठन आईएसआईएस की विचारधारा को फैलाया जा रहा है। रिजवी ने कहा कि मदरसों में छात्रों को निशाना बनाते हुए आंतकी संगठन आईएसआईएस की विचारधारा को फैलाया जा रहा है। 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो देशभर के आधे से ज्यादा मुसलमान आईएसआईएस की विचारधारा के समर्थक हो जाएंगे। पीएम को लिखे खत में रिजवी ने कहा है कि पूरी दुनिया में देखा गया है कि कोई भी मिशन चलाने के लिए बच्चों को निशाना बनाया जाता है और इस वक्त आईएसआईएस एक खतरनाक आतंकी संगठन है, जो धीरे-धीरे पूरी दुनिया में मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों में पकड़ बना रहा है। कश्मीर में बड़ी तादाद में आईएसआईएस के समर्थक खुले तौर पर दिखाई दे रहे हैं। यहां बड़े पैमाने पर मदरसों में इस्लामिक तालीम लेने वाले बच्चों को आर्थिक मदद पहुंचा कर इस्लामिक शिक्षा के नाम पर उन्हें दूसरे धर्मों से काटा जा रहा है और सामान्य शिक्षा से दूर किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान में ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे प्राथमिक मदरसे चंदे की लालच में हमारे बच्चों का भविष्य खराब करने पर तुले हुए हैं। उनको सामान्य शिक्षा से दूर रखकर इस्लाम के नाम पर कट्टरपंथी सोच पैदा की जा रही है। यह मुसलमान बच्चों के लिए घातक है और साथ ही साथ देश के लिए भी एक बड़ा खतरा है।

रिजवी ने कहा कि आईएसआईएस दुनिया भर में मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों में अपनी पकड़ बना रहा है। इस्लामिक तालीम लेने वाले बच्चों को आर्थिक मदद पहुंचाकर इस्लामिक तालीम के नाम पर उन्हें दूसरे धर्मों से काटा जा रहा है और सामान्य शिक्षा के दूर किया जा रहा है। कट्टरपंथी सोच पैदा की जा रही है जो कि हमारे बच्चों के लिए घातक होने के साथ ही देश के लिए बड़ा खतरा है।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Popular News This Week

 
-->