LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





CREDIT SCORE अब LOAN के अलावा नौकरी (JOB) पर भी असर डालेगा

13 January 2019

लोग मकान, कार (GOME LOAN, CAR LOAN) या इसी तरह की अन्य महंगी जरूरतें पूरी करने के लिए बैंकों (BANK) या गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) से लोन (LOAN) लेते हैं। इसके अलावा रोजमर्रा की छोटी-मोटी आवश्यकताओं के लिए क्रेडिट कार्ड (CREDIT CARD) का इस्तेमाल करते हैं लेकिन यदि आप समय पर लोन (LOAN) नहीं चुकाते तो आपका क्रेडिट स्कोर (CREDIT SCORE)  खराब हो जाता है। ऐसे में आपको अगला लोन मिलने में दिक्कत आती है परंतु अब नौकरी (JOB) में भी दिक्कत आएगी। 

पैसाबाजार की चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर राधिका बिनानी ने अपने एक ब्लॉग में लिखा है कि जब भी आप क्रेडिट कार्ड का बिल या लोन की ईएमआई चुकाने में देरी करते हैं या इससे चूक जाते हैं, तो क्रेडिट स्कोर को नुकसान होता है। यदि आप अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाने की कोशिश कर रहे हैं, तो यह पक्का कर लें कि लोन की किस्तों का भुगतान समय पर और पूरा हो। समय पर बकाया भुगतान करते रहने से मजबूत क्रेडिट स्कोर खड़ा होगा। इससे अगला क्रेडिट आवेदन मंजूर होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि भुगतान की अंतिम तारीख अक्सर भूल जाते हैं तो बैंक को स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शंस दे सकते हैं। ऐसा करने पर बकाया राशि देय तिथि तक आपके बैंक खाते से खुद कट जाती है।

समय-समय पर अपनी क्रेडिट रिपोर्ट देखते रहें क्रेडिट रिपोर्ट में कभी-कभार गलत जानकारी भी दर्ज हो सकती है। क्रेडिट ब्यूरो में काम करने वाले कर्मचारियों की गलती या फिर किसी बैंक की तरफ से दी गई गलत सूचना से ऐसी गलतियां हो जाती हैं। इसलिए निश्चित अंतराल पर क्रेडिट रिपोर्ट देखते रहने से इसमें गलतियों की पहचान हो सकती है और समय रहते सुधार किया जा सकता है। ऐसा न करने पर आपके नाम पर हुए फर्जी लेनदेन या गलतियों का पता नहीं चल पाएगा और क्रेडिट स्कोर को नुकसान हो सकता है। इस कारण अगले लोन या क्रेडिट कार्ड का आवेदन मंजूर होने की संभावना घट जाती है।

सीधे बैंक से बार-बार पूछताछ करने से बचें
जब भी आप लोन या क्रेडिट कार्ड के लिए सीधे बैंक या कंपनी के पास आवेदन करते हैं, तो बैंक आपकी विश्वसनीयता का आकलन करने के लिए विभिन्न क्रेडिट ब्यूरो (जैसे सिबिल) से आपकी क्रेडिट रिपोर्ट निकालवाते हैं। बैंकों की ओर से किए गए क्रेडिट रिपोर्ट आग्रह 'हार्ड इंक्वायरी' मानी जाती है। इसके कारण क्रेडिट ब्यूरो क्रेडिट स्कोर में कुछ अंक घटा देते हैं। 

यदि आपको लोन या क्रेडिट कार्ड की जरूरत है तो एक छोटी अवधि में विभिन्न बैंकों के पास बहुत सारी पूछताछ करने से बचें। इसकी बजाय ऑनलाइन लेंडिंग मार्केटप्लेस पर जाकर विभिन्न बैंकों की तुलना करते हुए अपनी पात्रता एवं आर्थिक जरूरतों के आधार पर उपयुक्त बैंक का चयन कर सकते हैं। ऐसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की ओर से क्रेडिट रिपोर्ट के लिए भेजे जाने वाले आग्रह 'सॉफ्ट इंक्वायरी' माने जाते हैं। इससे क्रेडिट स्कोर भी नहीं घटता है।



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Suggested News

Popular News This Week

 
-->