BJP जिस हत्यारोपी नेता का साथ दे रही है, उसका एक और कारनामा | INDORE MP NEWS

इंदौर। कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे हत्याकांड के मुख्य आरोपी जगदीश करोतिया का एक और कारनामा सामने आया है। गिरफ्तारी के बावजूद भाजपा ने करोतिया को अब तक निष्कासित नहीं किया है लेकिन करोतिया के कारनामे खुलना शुरू हो गए हैं। 116 साल की उम्र में समिति के महाराज की मृत्यु के बाद से करोतिया ने अपने ही गुरु की धर्मशाला पर कब्जा किया हुआ है। कब्जा छुड़वाने के लिए महाराज के अनुयाइयों ने डीआईजी से गुहार लगाई है।

इंदौर के बाणगंगा इलाके स्थित हरिहर धर्मशाला का ताला तोड़कर जगदीश करोतिया द्वारा कब्ज़ा किये जाने की शिकायत की गयी है। इस धर्मशाला का निर्माण स्वर्गीय हरिहरानंद जी महाराज द्वारा करवाया गया था। जगदीश करोतिया भी महाराज के अनुयायी था लेकिन 3 साल पहले 116 वर्ष की उम्र में महाराज ने हरिद्वार में दम तोड़ दिया था। इसके बाद जगदीश करोतिया ने धर्मशाला का ताला तोड़कर उस पर कब्जा कर लिया। अब वह मंदिर में भी किसी को नहीं जाने देता।

हरिहरानंद महाराज के अनुयाइयों ने ट्विंकल के शव जगदीश करोतिया द्वारा इस धर्मशाला में ठिकाने लगाये जाने की आशंका भी जताई है। प्रदेश में भाजपा की सरकार के कारण जगदीश करोतिया की धमकियों से परेशान अनुयाइयों ने किसी तरह का विरोध नहीं किया लेकिन अब जगदीश करोतिया के गिरफ्तार होने के बाद अनुयाइयों ने डीआईजी को गुहार लगायी है कि उस धर्मशाला को फिर से महाराज की समिति को दिलवाया जाए, ताकि उनकी गद्दी पर आसीन हुए उनके अनुयाई फिर से समिति का संचालन कर सकें।

डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र ने मामले की जांच करवाने की बात कही है। जगदीश करोतिया को बीजेपी नेताओं का समर्थन होने की वजह से उसके काले कारनामों का कोई भी खुलकर विरोध नहीं कर पा रहा था लेकिन अब उसके जेल जाने के बाद ऐसे कई मामले सामने आ सकते हैं, जिनमें करोतिया ने लोगों पर अत्याचार किया था।